Ashoknagar news : अब खाद ना मिलने से परेशान किसान ने जहर खा कर दी जान

मृतक के भतीजे का कहना है कि उसके चाचा फसलों की बुवाई के लिये बीते 10-15 दिनों से खाद लेने के लिये सोसायटी के चक्कर लगा रहे थे लेकिन उन्हें खाद नहीं मिला। जिसके कारण उन्होंने ये कदम उठाया।

अशोकनगर, हितेंद्र बुधौलिया। प्रदेश में खाद (fertilizer) की किल्लत से किसान आक्रोश में हैं। वहीं अशोकनगर (Ashoknagar district) में बीते सप्ताह से खाद और डीएपी की मांग को लेकर किसान प्रदर्शन कर चक्कजाम लगा रहे हैं तो कहीं कृषि अधिकारियों पर रोष जता रहे हैं। अशोकनगर में  करीब एक सप्ताह से जिले के किसान खाद ना मिलने से परेशान चल रहे हैं और इसी बीच डीएपी- खाद के लिये लगातार चक्कर लगाकर थक चुके एक किसान ने जहर खा कर आत्महत्या कर ली।

ये भी पढ़ें- MP: पटवारी-शिक्षक समेत 5 निलंबित, 51 कर्मचारियों को नोटिस, 1 बर्खास्त, 1284 के लाइसेंस निलंबित

मामला ईसागढ़ थाने के बड़ी पिररोल गांव का है, यहां के किसान घनपाल यादव ने खाद की किल्लत के कारण फसल ना बो पाने से तंग हो कर यह कदम उठाया है। परिजनों का कहना है उसने सल्फास खा कर अपनी जान दे दी। किसान 10-15 दिन से लगातार खाद के लिये परेशान था। ईसागढ़ स्वास्थ्य केंद्र से जिला चिकित्सालय भेजे गये घनपाल की यहां पहुंचने से पहले ही मौत हो गई थी। डॉक्टर का कहना है कि मौत का सही कारण पोस्टमार्टम के बाद ही पता चलेगा, लेकिन प्रारंभिक तौर जहर खाने से ही मौत मौत का कारण माना रहा है। मृतक के भतीजे जयपाल यादव ने बताया कि उसके चाचा ने गेंहू में लगाने वाली कीटनाशक सल्फास खा कर जान दी है। उसका कहना है कि सोयाबीन की फसल पूरी तरह से खराब हो चुकी थी। हम आगामी फसल बोन के लिये तैयार हैं, मगर खाद ना मिल पाने से फसलों की बुवाई नहीं हो पा रही थी। इसी कारण उसके चाचा काफी दिनों से परेशान थे। बीते 10-15 दिनों से लगातार सोसायटी के चक्कर लगा रहे थे मगर खाद नहीं मिल रहा था। इसी कारण उन्होंने यह आत्मघाती कदम उठाया है।