अशोकनगर: कोरोना मरीजों का मनोबल बढ़ाने विधायक ने कोविड वार्ड में कराया हनुमान चालीसा पाठ

अशोकनगर जिला अस्पताल स्थित कोविड-19 वार्ड में विधायक जजपाल सिंह जज्जी द्वारा हनुमान चालीसा पाठ कराया गया साथ ही मरीजों और डॉक्टरों को गुलाब के फूल भी दिए।

अशोकनगर, हितेंद्र बुधौलिया। कोरोना (Corona) जैसी जानलेवा महामारी से संक्रमित होने के बाद अकसर लोगों के दिमाग में यह बात आती है की वो इस बीमारी से ठीक होंगे या नहीं जिसके चलते मरीजों का मनोबल कम हो जाता है और इसी मनोबल को फिर से बढ़ाने के लिए अशोकनगर (Ashoknagar) जिला अस्पताल स्थित कोविड-19 वार्ड में विधायक जजपाल सिंह जज्जी (MLA Jajpal Singh Jajji) द्वारा हनुमान चालीसा पाठ कराया गया साथ ही मरीजों और डॉक्टरों को गुलाब के फूल भी दिए।

यह भी पढ़ें…जबलपुर में खड़े ट्रक से टकराई तेज रफ्तार कार, महिला आरक्षक की मौत, दो लोग घायल

अस्पताल में उस समय धार्मिक माहौल बन गया जब विधायक जजपाल सिंह जज्जी सुबह-सुबह कोविड-19 वार्ड में पंहुचे और हनुमान चालीसा की किताबें वितरित कर स्वयं मरीजों के साथ श्री हनुमान चालीसा का पाठ करने लगे और देखते ही देखते पूरा परिवेश धार्मिक हो गया,पाठ करने के बाद उन्होंने मरीजों और डॉक्टरों का हौसला अफजाई करते हुए उन्हें गुलाब के फूल वितरित कर सभी मरीजों का हालचाल जाना। विधायक जज्जी का मानना है कि मानव जाति कल्याण के निमित्त सच्चे मन व भाव से अगर आप श्री हनुमान चालीसा का पाठ करते हैं तो विश्वास रखिए तार वाले बालाजी सरकार हमारी प्रार्थना जरूर स्वीकार करेंगे व जल्द ही हमें इस भयावह स्थिति और रोग से मुक्ति मिलेगी। बतादें कि इससे ठीक पहले विधायक ने अपने इष्ट श्री तारबाले बालाजी सरकार के मंदिर पहुचकर जिले को इस संकट से निवारने की प्रार्थना भी की थी।

यह भी पढ़ें…भोपाल- हफ्ते में 2 दिन खुलेंगे पेट्रोल पंप! कलेक्टर ने कहा और सख्ती की जाएगी

इधर आपको बतादें कि कोरोना काल में विधायक जजपाल सिंह जज्जी का हर दिन एक अलग ही अंदाज देखने को मिल रहा है। विधायक कोरोना मरीजों का कोविड सेंटर पहुंचकर मरीजों की स्वास्थ स्थिति का जायजा तो ले ही रहे है वही साथ-साथ मरीजों को खूब हंसा कर तो कही गाना गा हौसला अफजाई तो कर ही रहे है तो वही गुब्बारे वांटकर मरीजों से गुब्बारे फुलवाकर फेफड़ो की एक्सरसाइज भी करवा रहे है और उसी क्रम में आज गुलाब के फूल बांटकर एवं श्री हनुमान चालीसा का पाठ किया गया।

विधायक ने कहा कि दुख में यदि सुख की अनुभूति चाहते हो तो हँसना सीखो, परिस्थिति कोई भी हो दुख में हिम्मत रखने से दुख आधा रह जाता है और विचलित होने से दुख दुगना हो जाता है, उन्होंने कहा कि रात की सीढ़ियां पार किये विना प्रभात की मंजिल कभी नहीं मिलती, देखा गया है कि धैर्य के सामने भयंकर संकट भी धुएं के बादल के समान उड़ जाते है। हँसते-मुस्कुराते जीना जिसको आ गया, टूटे हुए दिलों को सीना जिसको आ गया, ऐसे प्रभु बालाजी सरकार के शरण मे जाइये और उनकी स्तुति कीजिये तो इस संकट से आपको जल्द निश्चित ही छुटकारा मिलेगा।