Ashoknagar News : कलेक्टर के आदेश को मंत्री ने नकारा, कहा करीला में दर्शन कर सकते हैं लोग

कलेक्टर (Collector) एवं मुंगावली विधायक व राज्यमंत्री बृजेंद्र सिंह यादव (Brijendra Singh Yadav) के बीच सामंजस्य नहीं बैठा है। मंत्री ने कलेक्टर के द्वारा निकाले गए आदेशों को नकार दिया है।

अशोकनगर, हितेंद्र बुधौलिया। अशोकनगर जिले के करीला रंग पंचमी (Rang Panchami) पर लगने वाले राई मेले को लेकर कलेक्टर (Collector) एवं मुंगावली विधायक व राज्यमंत्री बृजेंद्र सिंह यादव (Brijendra Singh Yadav) के बीच सामंजस्य नहीं बैठा है। मंत्री ने आज कलेक्टर के द्वारा निकाले गए आदेशों को नकार दिया है। और उन्होंने कहा की लोग मंदिर में आकर दर्शन कर सकते हैं। साथ ही उनका कहना है कि कलेक्टर द्वारा ट्रैक्टर-ट्रॉली को राजसात करने एवं पंचायत सचिवों पर कार्रवाई का जो आदेश जारी किया गया था। उस तरह की कोई कार्रवाई भी नहीं की जाएगी।

यह भी पढ़ें….Datia News : कलेक्टर ने जिला चिकित्सालय का किया निरीक्षण, कोरोना टीकाकरण की ली जानकारी

उल्लेखनीय है कि रंग पंचमी पर माता जानकी के मंदिर में अपनी मांगों को पूरा कराने एवं मन्नते मांगने के लिये हर साल राई मेला लगता है। जिसमें करीब 15 से 20 लाख लोग शामिल होते हैं। मगर इस बार कोविड-19 () इसे निरस्त कर दिया गया है। कलेक्टर अभय वर्मा ने यहां भीड़ ना पहुंचे इसको लेकर कई आदेश जारी किए थे। जिसमें उन्होंने लोगों को करीला मंदिर ना आने देने के लिए पंचायत स्तर पर रोकने का आदेश जारी किया था, साथ ही कहा था कि अगर इसका उल्लंघन हुआ तो ,और लोग ट्रैक्टर ट्रॉली से आये को उनको राजसात कर लिया जाएगा और संबंधित पंचायतों के सचिवों पर कार्रवाई की जाएगी।

इसके अलावा शासन की गाइडलाइन (Guideline) के तहत यहां भीड़ ना हो इसके लिए तरह-तरह के उपाय किए जा रहे थे। मगर आज राज्यमंत्री बृजेंद्र सिंह यादव ने कलेक्टर के सभी आदेशों पर पानी फेर दिया। उन्होंने स्पष्ट तौर पर कहा कि जिन लोगों ने मन्नते मांग रखी है वह श्रद्धालु मंदिर में आकर दर्शन कर सकते हैं। साथ ही ट्रैक्टर ट्रॉली राजसात करने एवं सचिवो पर कार्रवाई करने वाले आदेश को लेकर उनका कहना है इसके लिए उन्होंने कलेक्टर को बोल दिया है कि इस तरह की कोई कार्यवाही ना की जाए। यानी उन्होंने भीड़ नियंत्रण के लिए कलेक्टर के आदेश हो को नकार दिया है। हालांकि मंत्री बृजेंद्र सिंह यादव का कहना है कि प्रशासन को व्यवस्था करनी चाहिए की कोविड नियमों का पालन के साथ लोग दर्शन कर सके।

यह भी पढ़ें…. Raisen : मार्केट न मिलने से नाराज किसान, सड़कों पर फेंके टमाटर