Balaghat News : दो गांवों में फैला मलेरिया, रोज बढ़ रहे मरीज, 06 वर्षीय मासूम की मौत

पांच लोगों के मलेरिया से मरने के सरपंच प्रतिनिधि से मिली जानकारी के सवाल पर कहा कि इसका वेरीफिकेशन किया जाएगा कि मरने की मौत की वजह मलेरिया है या और कुछ।

Amit Sengar
Updated on -
balaghat news

Balaghat News : बालाघाट जिले के बिरसा विकासखंड में चौरिया पंचायत के चौरिया और चिलौरा दो गांव में ग्रामीणो में फैली मलेरिया बीमारी ने 07 जून को 06 वर्षीय मासुम रिषभ कुंभरे की जान ले ली। जबकि दोनो ही गांव में हर एक घर के बाद मलेरिया से ग्रसित मरीज घर के बिस्तर पर पड़े है। जिसमें पुरूष, महिला और बच्चे भी शामिल है। चौरिया पंचायत के ग्राम चौरिया और चिलौरा में मलेरिया से ग्रामीणों के प्रभावित होने की पुष्टि, पंचायत सरपंच प्रतिनिधि सोनसिंह वरकड़े और सचिव राजेश मातरे ने की। पंचायत प्रतिनिधि सोनसिंह वरकड़े ने बताया कि बीते कुछ दिनों से ग्राम के हर एक घर में मलेरिया से ग्रसित मरीज है। जिसमें मलेरिया से प्रभावित बालक रिषभ कुंभरे की 07 जुलाई को मौत हो गई।

हर एक घर के बाद बिस्तर पर पड़े मरीज

पंचायत सचिव राजेश मातरे ने भी चौरिया और चिलौरा में मलेरिया बीमारी से ग्रामीणों के ग्रसित होने की पुष्टि करते हुए कहा कि पंचायत के दो गांवो में मलेरिया फैला है, जिसमें कई ग्रामीण, इसकी चपेट में है। बरसात के दिनो में पानी के जमा होने और गंदगी में मलेरिया के मच्छरां के पनपने से मलेरिया की आशंका बनी रहती है। हालांकि मलेरिया विभाग, गांव-गांव में मलेरिया से रोकथाम को लेकर प्रचार-प्रसार और मलेरिया से बचाव को लेकर उपाय करने की बात करता है लेकिन मलेरिया से ग्रामीणों के ग्रसित हो जाने पर मामले में जानकारी लेने कॉल लगाए जाने के बाद भी मलेरिया विभाग के अधिकारी का फोन नहीं उठाया जाना, उनकी जिम्मेदारी पर सवाल खड़े करता है। फिलहाल कलेक्टर और सीएचएमओ ने कहा कि ग्रामीणो की जांच के लिए टीम भेजने की बात कही है।

कलेक्टर डॉ. गिरीश कुमार मिश्रा ने चौरिया पंचायत के चौरिया और चिलौरा में मलेरिया बीमारी से ग्रामो के ग्रामीणों के ग्रसित होने के सवाल पर कहा कि गांव में जांच के लिए टीम भेजी गई है। सीएचएमओ डॉ. मनोज पांडेय ने कहा कि आपके माध्यम से जानकारी मिली है, गांव में टीम भेजकर जांच कराई जाएगी। पांच लोगों के मलेरिया से मरने के सरपंच प्रतिनिधि से मिली जानकारी के सवाल पर कहा कि इसका वेरीफिकेशन किया जाएगा कि मरने की मौत की वजह मलेरिया है या और कुछ।

बालाघाट से सुनील कोरे की रिपोर्ट


About Author
Amit Sengar

Amit Sengar

मुझे अपने आप पर गर्व है कि में एक पत्रकार हूँ। क्योंकि पत्रकार होना अपने आप में कलाकार, चिंतक, लेखक या जन-हित में काम करने वाले वकील जैसा होता है। पत्रकार कोई कारोबारी, व्यापारी या राजनेता नहीं होता है वह व्यापक जनता की भलाई के सरोकारों से संचालित होता है। वहीं हेनरी ल्यूस ने कहा है कि “मैं जर्नलिस्ट बना ताकि दुनिया के दिल के अधिक करीब रहूं।”

Other Latest News