वैक्सीन के डर से रो रही थी युवती, मौके पर पहुंची बैतूल एसपी, फिर हुआ ये

वैक्सीन के डर से रो रही युवती के कंधे पर एसपी ने हाथ रखा औरउसे समझाया जिसके बाद युवती ने वैक्सीन लगवा ली।

बैतूल, वाजिद खान। ये तो आपने बहुत सुना होगा की लड़कियां इंजेक्शन (injection) से बहुत डरती है। और कुछ का तो इंजेक्शन के नाम से ही रो रो कर बुरा हाल हो जाता है। ऐसा ही कुछ हुआ मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के बैतूल (Betul) में। जहां कोरोना वैक्सीन (corona vaccine) लगवाने के दर से एक युवती का रो-रो कर बुरा हाल हो गया। वहीं जब बैतूल एसपी को इसकी जानकारी लगी तो उन्होंने युवती को समझाया। जिसके बाद युवती ने हिम्मत कर आखिरकार वैक्सीन लगवा ही ली।

यह भी पढ़ें…Morena : वन विभाग के रिटायर मृत कर्मचारी के बेटे ने विभाग पर लगाए गंभीर आरोप, ये है मामला

दरअसल बैतूल के आदिवासी बाहुल्य इलाके के कुछ गांव है। जहां पर वैक्सीन लगवाने के लिए लोग आगे नहीं आ रहे हैं । ऐसे गांवों को चिन्हित करके पुलिस ने यहां वैक्सीन के लिए लोगों को जागरूक करने के लिए कैंपन शुरू किया है । और घर घर जाकर वैक्सीन के लिए लोगों को जागरूक भी कर रही है। वहीं बैतूल के भीमपुर विकासखंड का आदर्श पिपरिया गांव में एक अलग नजारा देखने को मिला। जहां एक युवती वैक्सीन के दर से रो रही थी जिसके बाद कंधे पर हाथ रखकर एसपी सिमाला प्रसाद उसे समझाते हुए नजर आ रही हैं। एसपी कह रही है कि वैक्सीन लगवा लो नहीं तो कोविड हो जाएगा । वैक्सीन के नाम पर 27 साल की युवती भगवंती बारस्कर बेहद डरी हुई थी। और उसके चेहरे के हाव भाव देखकर लग रहा था कि वह रोने वाली है। युवती की हालत को देखकर एसपी सिमाला प्रसाद ने अपनत्व की भावना के साथ उसके कंधे पर हाथ रखकर प्यार से समझाया और बोला कि पहले देख लो की दूसरी महिलाएं भी वैक्सीन लगवा रही है। उन्हें कोई तकलीफ नहीं हो रही है । युवती प्रभावित हुई और उसने वैक्सीन लगवा ली ।

दरअसल बैतूल के ऐसे कई गांव है जहां लोग वैक्सीन नही लगवा रहे है । इन्ही गांवों में से पुलिस ने 5- 5 गांवों को चिन्हित कर वहां वैक्सिनेशन कैंपेन की शुरुआत की है। पहले दिन बुधवार को आदर्श पिपरिया गांव में कैम्पेन शुरू किया गया और ग्रामीणों में जो डर और भ्रम था। उसे दूर किया गया। पुलिस के इस कैंपेन के दौरान कई ऐसे नजारे देखने को मिले जब लोग वैक्सीन लगाने को तैयार नही हुए। लेकिन जब एसपी सिमाला प्रसाद ने समझाना शुरू किया तो महज दो घंटे में 80 लोग वैक्सिनेशन सेंटर पर पहुचकर वैक्सिनेटेड हो गए।