Betul : जब वैक्सीनेशन की बात सुनकर नाचने लगी झनकी बाई, देखिये वीडियो

बैतूल, वाजिद खान। पहले जिन आदिवासी इलाकों में कोरोना वैक्सीन को लेकर खौफ था..वहीं जागरूकता अभियान के बाद अब धीरे धीरे लोगों का डर गायब हो रहा है। बल्कि अब तो ये आदिवासी ग्रामीण खुश होकर वैक्सीन लगवा रहे हैं। ऐसा ही एक वीडियो सामने आया है जिसमें एक आदिवासी महिला..स्वास्थ्यकर्मियों के पहुंचने पर खुशी से नाचने लगी।

कोरोना के बूस्टर डोज की तैयारी, जल्द आएगी नई पॉलिसी…

Betul : जब वैक्सीनेशन की बात सुनकर नाचने लगी झनकी बाई, देखिये वीडियो

दरअसल बैतूल में वैक्सीनेशन महाअभियान के दौरान भीमपुर विकासखंड के गांव बोरी में भी स्वास्थ्यकर्मियों की टीम पहुंची। उन्हें देखकर करीब पचास साल की झनकी बाई धुर्वे खुशी से नाचने लगी। वैक्सीन लगवाने को लेकर वो इतनी उत्साहित थी कि टीम के सामने ही उन्होने झूमकर पारंपरिक नृत्य किया और गाना भी गाया। इसके बाद उन्होने खुशी खुशी टीका लगवाया और कहा कि अब वे कोरोना संक्रमण से सुरक्षित हो गई हैं। बता दें कि भीमपुर विकासखंड आदिवासी बाहुल्य इलाका है और यहां के आदिवासी पहले वैक्सीनेशन से डरकरऔर उसका विरोध कर रहे थे और स्वास्थ्य विभाग को भी यहां लोगों को मनाने में पसीना आ गया था। लेकिन अब हालात कुछ और है और इसे लेकर बैतूल सीएमएचओ डॉ एके तिवारी का कहना है कि ये जो डांस का वायरल वीडियो है वो इस परिवर्तन को दर्शाता है। उन्होने कहा कि गांव बोरी में वैक्सीन लगने के बाद बुजुर्ग महिला खुशी का इजहार कर रही है। इस इलाके में पहले वैक्सीनेशन को लेकर आदिवासियों में डर था जिसको लेकर क्राइसिस मैनेजमेंट समिति और स्वास्थ्य विभाग में जागरूकता अभियान चलाया जिसके चलते अब आदिवासी खुशी-खुशी टीक लगवा रहे हैं। भीमपुर विकासखंड में अभी वैक्सीनेशन का आंकड़ा कम है लेकिन उनका कहना है कि पूरी कोशिश की जा रही है कि जल्द से जल्द यहां शत-प्रतिशत वैक्सीनेशन हो जाए।