भिण्ड: पुलिस ने ली बेवजह घूमने वालों की लिखित परीक्षा, अस्थाई जेल में लगी क्लास

कोरोना कर्फ्यू में बेवजह घूम रहे इन युवाओं को पुलिस की बस में बिठाकर अस्थाई जेल भेजा गया। जहां पर इनसे सौ बार लिखवाया गया कि मैं कोरोना कर्फ्यू का उल्लंघन नहीं करूंगा। साथ ही इन लोगों से शारिरिक परिश्रम भी कराया गया।

भिण्ड

भिण्ड, गणेश भारद्वाज। भिण्ड पुलिस (bhind police) ने कोरोना कर्फ्यू (curfew) के दौरान बिना काम के सड़कों पर घूम रहे युवाओं (youngsters) की एक अनूठी परीक्षा ले डाली। पुलिस ने इन युवाओं को पकड़कर एक खुली जेल (jail) में बंद कर दिया और फिर सोशल डिस्टेंस (social distance) का पालन करते हुए एक हॉल में बिठाकर उन्हें बाकायदा पेपर कॉपी देकर कोरोना कर्फ्यू के उलंघन पर निबंध लिखने की परीक्षा (exam) ले डाली।

यह भी पढ़ें… देखिये लंगूर की अनोखी कैटवॉक, ठुमक ठुमककर किया पुल पार

शहर में बेवजह घूमने वाले लोगों खासकर युवाओं पर पुलिस अब सख्ती बरत रही है। कोरोना कर्फ्यू में बेवजह घूम रहे इन युवाओं को पुलिस की बस में बिठाकर अस्थाई जेल भेजा गया। जहां पर इनसे सौ बार लिखवाया गया कि मैं कोरोना कर्फ्यू का उल्लंघन नहीं करूंगा। साथ ही इन लोगों से शारिरिक परिश्रम भी कराया गया।

यह भी पढ़ें… PHOTO: इस घड़ी में कभी नहीं बजते 12, जानें क्या है इसके पीछे का चौंकाने वाला रहस्य

दरअसल यह क्लासरूम और ट्रेनिंग ग्राउंड पुलिस द्वारा बनाई गई अस्थाई जेल है। भिण्ड शहर में कोरोना कर्फ्यू का उल्लंघन करने वाले लोगों के लिए पुलिस ने शासकीय बुनियादी स्कूल में अस्थाई जेल बनाई है। कोरोना कर्फ्यू का उल्लंघन करते पकड़े गए 50 युवकों को बस में बैठाकर इस जेल में लाया गया। जहां पर सजा के तौर पर उनसे सौ बार लिखवाया गया कि ‘मैं कोरोना कर्फ्यू के नियमों का उल्लंघन नहीं करूंगा’। साथ ही इन युवाओं को पुलिस अथवा अन्य फोर्स में भर्ती के लिए दी जाने वाली ट्रेनिंग भी सजा के तौर पर करवाई गई। बाद में सभी को कोविड-19 नियमों का पालन करने की समझाइश देकर छोड़ दिया गया।