मृत गायों को कचरे की गाड़ी में ले जाने से गुस्साए गौ भक्त, नगरपालिका के कर्मचारियों पर कार्रवाई की मांग

गौ रक्षा संगठन ने सार्वजनिक रूप से गौ माता के प्रति अनैतिक बर्ताव करने वाले पर कार्रवाई की मांग की है।

भिंड, सचिन शर्मा। भिंड जिले (Bhind district ) के दमोह नगर पंचायत ( Damoh Nagar Panchayat ) में नगरपालिका के कर्मचारियों (Municipal employees) द्वारा करंट लगने से मृत गायों को कचरे की गाड़ियों में ले जाने का एक मामला सामने आया है। जिसके बाद गौरक्षा संगठनों में काफी आक्रोश दिखाई दे रहा है। वहीं सम्बंधित कर्मचारियों पर कार्रवाई की मांग की है।

यह भी पढ़ें…वर्ल्ड सीनियर आर्चरी में MP की मुस्कान किरार ने दिलाया सिल्वर मेडल, खेल मंत्री ने दी बधाई

बता दें कि गौ रक्षा संगठन के नगर प्रमुख राम मोहन तिवारी द्वारा टीचिंग ग्राउंड में जेसीबी द्वारा कचरे की गाड़ियों में मृत गौ माताओं को ले जाने और उसके बाद करवाने कचरे में गढ़बाए जाने के मामले में नगर पंचायत के अधिकारियों को इसकी सूचना दी गई थी। गौ रक्षा संगठन के नगर प्रमुख का कहना था कि नगर पंचायत के कर्मचारी मृत गायों को उठाने आए और आस्था को ठेस पहुंचाने वाला कृत्य करके गौमाता को कचरे के ढेर की तरह गंदे कचरे के ढेर में दबा के ले गए। स्थानीय गौ भक्तों ने नगरपालिका के कर्मचारियों का विरोध भी किया लेकिन दबंग कर्मचारियों ने किसी की नहीं सुनी और वह सार्वजनिक रूप से गौ माता का अपमान और तिरस्कार करते हुए उन्हें एक गंदगी भरी कचरे की ट्रॉली में गंदे कचरे के ढेर में दबा कर ले गए।

ग्रामीणों का आरोप है कि कई सालों से गौशालाए बनी हुई है, लेकिन उसका संचालन नहीं हो पा रहा है। सीएमएचओ से लेकर ठेकेदार सब पैसे खा रहे हैं। गायों की लगातार हत्या हो रही है और कचरे की ट्रॉली में इस तरह गायों को ले जाना यह कहां तक सही है। इसे बर्दाश्त नहीं कर सकते हैं।

इधर, इस मामले में गौ रक्षा संगठन प्रमुख संतोष चौहान ने प्रशासन को चेतावनी देते हुए कहा कि आम जन की आस्था को चोट पहुंचाने वाले एवं गौ माता का सार्वजनिक अपमान तिरस्कार करके शर्मनाक कृत्य करने वाले नगरपालिका कर्मचारियों पर वरिष्ठ अधिकारी कार्रवाई करें, अन्यथा गौ रक्षा संगठन नगर पंचायत प्रशासन के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करेगा।

यह भी पढ़ें… Bhind News : खाद के गोदाम पर पुलिस का छापा, 300 रूपए महंगी बेच रहा था व्यापारी