दिग्विजय सिंह का कटाक्ष- ‘भाजपा पहले राम के नाम पर चुनाव लड़ेगी, हार जाएगी तो एमएलए खरीद लेगी’

दिग्विजय सिंह

भिंड, गणेश भारद्वाज। “भाजपा को अहंकार हो गया है कि हम काम करें या ना करें, भगवान राम के कारण, धर्म के नाम पर हम चुनाव फिर जीत जाएंगे। और अगर हार भी गए तो पैसा देकर वो हमारे एमएलए खरीद लेंगे।” ये बात कही है पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह (digvijay singh) ने। उन्होंने कहा कि भाजपा (bjp) को पैसे पर गुमान हो गया है। लेकिन ये जनता से लूटा हुआ पैसा है, जो उन्होने एमएलए (mla) में बांटकर उन्हें खरीद लिया।

ये भी देखिये – दिग्विजय का सिंधिया पर तंज- ‘इंतजार कर रहे, कब सड़क पर उतरेंगे’

जल सत्याग्रह में शामिल होने के लिए भिंड के गोहद पहुंचे दिग्विजय सिंह ने किसान कानून पर बोलते हुए दिग्विजय सिंह ने कहा भाजपा पूंजीपतियों की पार्टी है इसलिए वह किसान विरोधी कानून लाई है। इस दौरान लोगों को किसान कानून के बारे में बताते हुए दिग्विजय सिंह ने कहा इस कानून में कहीं का भी किसान कहीं भी रजिस्ट्रेशन करवा सकता है जिसके लिए केवल आधार कार्ड और पैन कार्ड की जरूरत होगी। रजिस्ट्रेशन कराने के बाद 45 करोड़ रुपए किसानों का लेकर अगर व्यापारी भाग गया तो किसान उसे कहां ढूंढेंगे। इसके लिए उन्होंने भाजपा के मंत्री कमल पटेल के भतीजे प्रदीप पटेल का उदाहरण देते हुए कहा कि जब भाजपा के मंत्री के भतीजे के रुपये लेकर भागे व्यापारी से वह रुपये नहीं ले सके तो आम किसान कहाँ से ले पाएंगे। उसे भी हरदा में व्यापारी के खिलाफ एफआईआर करवाना पड़ी। उन्होंने कहा कि ब्रिटिश हुकूमत में भी अदालत में जाने पर रोक टोक नहीं थी लेकिन मोदी जी ने उस पर भी रोक लगा दी।

दिग्विजय सिंह ने पीएम मोदी पर वार करते हुए कहा कि उनस बड़ा झूठ बोलने वाला नेता ना हुआ है ना होगा। दूसरा सबसे बड़ा झूठा नेता है शिवराज सिंह। इस दौरान सिंधिया के कांग्रेस छोड़ने का दर्द भी दिग्विजयसिंह के भाषणों में छलक उठा। उन्होंने कहा कांग्रेस में सिंधिया को महाराज बोलते हुए पूरा सम्मान देते थे और भाजपा में उन्हें महाराज से भाई साहब बना दिया गया है। राज्यसभा में सिंधिया द्वारा मोदी की तारीफ किये जाने पर भी दिग्विजय सिंह ने दुःख जताया। उन्होंने कहा कि अब जैसे वह पहले कांग्रेस की तारीफ करते थे वैसे ही अब भाजपा की तारीफ करते नहीं थकते। कांग्रेस गरीबों की लड़ाई लड़ती है और भाजपा पूंजीपतियों की, कांग्रेस ने ही लोकतंत्र दिया है।

मध्य प्रदेश के निकाय चुनाव टाले जाने पर दिग्विजय सिंह ने कहा कि कोरोना ऐसा रोग है भाजपा जब चाहती है तब लग जाता है और जब चाहे तब हट जाता है। जब भाजपा के सम्मेलन होंगे तो कोरोना लग नहीं सकता और जब कांग्रेस के सम्मेलन या विधानसभा होगी तो उसमें कोरोना आ जायेगा। कोरोना अगर किसी की बात मानता है तो केवल शिवराज सिंह चौहान की बात मानता है। उन्होंने कहा कि महंगाई से भाजपा डरी हुई है इसलिए वह चुनाव नहीं करा रही। उन्होंने एक बार फिर से ईवीएम पर बोलते हुए कहा कि वह केवल ईवीएम माता की कृपा से चुनाव जीत सकते हैं वरना नहीं।

गोहद पहुंचकर दिग्विजय सिंह सबसे पहले वह वैसली डेम में पानी छोड़े जाने को लेकर चल रहे जल सत्याग्रह में शामिल हुए और फिर नए बस स्टैंड पर आम सभा को संबोधित किया। आम सभा को संबोधित करते हुए दिग्विजय सिंह ने जमकर भाजपा और मोदी पर हमला बोला। इसके साथ ही एक बार फिर से उन्होंने कृषि कानूनों को वापस लेने की वकालत करते हुए मध्यप्रदेश में महापंचायत बुलाए जाने की बात भी कही।