किसानों ने कहा अगर बिजली न मिली तो आत्महत्या करने पर होंगे मजबूर

किसानों ने कहा कि धान की खेती के लिए पर्याप्त बिजली चाहिए। जबकि अरूसी में लाइट केवल 4 घंटे के लिए ही आती हैं। हमे कम से कम 10 घंटे के लिए लाइट चाहिए। अगर लाइट नहीं मिली तो खेती नही होगी। खेती नही हुई तो कर्ज नहीं चुका पाएंगे। इसके बाद हम आत्महत्या करने पर मजबूर हो जाएंगे।

भिंड, सचिन शर्मा। बिजली का संकट यू तो पूरे देश में आया है कोयले की कमी से, लेकिन मध्य प्रदेश जहां पर आधे से ज्यादा जनता खेती पर आधारित हैं। यहाँ किसानो को बहुत ही परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। आपको बता दें भिंड जिले में हर वर्ष की तरह इस बार भी रिकॉर्ड तोड गर्मी पड़ रही है। इसके अलावा यह वर्षा की दृष्टि से देखा जाये तो यहाँ पर सबसे कम बारिश होती है। इस कारण किसानो का परेशान होना आम बात है।

यह भी पढ़ें – मध्यप्रदेश सरकार विदेशों से आयात कर रही है कोयला, बढ़ सकते हैं बिजली के दाम

इसी को लेकर आज ग्राम अरुसी के किसानों ने लहार विद्युत विभाग में मांग की है कि लहार तहसील में भी सब स्टेशन बने। बिजली विभाग ने प्रदेश में अभी 8 जगह पर सब स्टेशन लगाने के लिए योजना बनाई है। इस योजना में अरूसी गांव का भी नाम दिया गया हैं, लेकिन शासन द्वारा इस मुद्दे से सम्बंधित अभी तक कुछ भी नहीं हुआ है।

यह भी पढ़ें – Mandi bhav: 9 मई 2022 के Today’s Mandi Bhav के लिए पढ़े सबसे विश्वसनीय खबर

किसानों ने कहा कि धान की खेती के लिए पर्याप्त बिजली चाहिए। जबकि अरूसी में लाइट केवल 4 घंटे के लिए ही आती हैं। हमे कम से कम 10 घंटे के लिए लाइट चाहिए। अगर लाइट नहीं मिली तो खेती नही होगी। खेती नही हुई तो कर्ज नहीं चुका पाएंगे। इसके बाद हम आत्महत्या करने पर मजबूर हो जाएंगे। सभी घटना से अवगत होने के बाद बिजली विभाग के अधिकारी ने किसानों को आश्वासन दिया है कि यहां से हमने पूरी फाइल बना के भेज दी हैं। जल्द ही टेंडर पास हो जायेगा।

यह भी पढ़ें – अजब गजब : जब सिक्का उछाल कर किया गया चुनाव में विजयी प्रत्याशी का फैसला

हरीश मेहता ने किसानों की और भी समस्या सुनी और उनका तुरंत निराकरण किया। साथ ही कहा आपका सब स्टेशन जल्द आ जायेगा। इसके लिए आप लोगों को थोड़ा धीरज रखना होगा। आपको बता दें बिजली की समस्या पूरे देश के साथ प्रदेश में भी बनी हुई है। पर संतोषजनक यह है कि प्रदेश के पास अभी भी पर्याप्त मात्रा में कोयले का स्टॉक है। यह जानकारी प्रदेश के ऊर्जा मंत्री प्रद्युमन सिंह ने दी है।