सदर विधायक ने किया शासकीय स्कूल का निरीक्षण, अव्यवस्थाओं पर प्राचार्य को लगाई फटकार

सदर विधायक संजीव सिंह कुशवाह ने आज सुबह 11 से लेकर 2 बजे तक दो शासकीय मिडिल और दो हायर सेकेंडरी स्कूलों का औचक निरीक्षण किया। और मिली अव्यवस्थाओं पर प्राचार्य को फटकार लगाई।

भिण्ड, गणेश भारद्वाज। सदर विधायक संजीव सिंह कुशवाह (Sanjeev Singh Kushwaha) ने आज सुबह 11 से लेकर 2 बजे तक दो शासकीय मिडिल और दो हायर सेकेंडरी स्कूलों का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान विधायक के साथ खुद जिला शिक्षा अधिकारी हरि भुवन सिंह तोमर निरीक्षण में शामिल रहे। एक मिडिल स्कूल में जहां 4 शिक्षक अनुपस्थित मिले, तो वही दूसरे मिडिल स्कूल में 3 शिक्षक मौजूद तो मिले लेकिन 4 शिक्षक अटैचमेंट और डीएड करने के कारण स्कूल से नदारद थे। हायर सेकेंडरी स्कूल में चल रही पढ़ाई को विधायक ने स्वयं जांचा और बच्चों के साथ क्लास में बैठकर बातें भी की। महारानी लक्ष्मीबाई कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में विधायक संजीव कुशवाह छात्राओं की मांग पर अपनी निधि से आरओ वाटर कूलर लगाने की स्वीकृति दी। वहीं इतिहास की छात्राओं को एक पर्यटन टूर कराने की भी स्वीकृति दी। इसके अलावा विद्यालय परिसर में एक अति जीर्णशीर्ण भवन के डिस्मेंटल कराए जाने के लिए भी जिला शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिए।

यह भी पढ़ें…. ट्रोलर ने अभिषेक से कहा- ‘डिजर्व नहीं करते ऐश्वर्या जैसी पत्नी,’ मिला ये करारा जवाब

सबसे पहले विधायक ने अपने घर के ही समीप सुभाष नगर मिडिल स्कूल का निरीक्षण किया। यहां पर न केवल 4 शिक्षिकाएं अनुपस्थित मिलीं बल्कि विद्यालय में साफ-सफाई का भी बेहद अभाव दिखा। जिस पर विधायक और जिला शिक्षा अधिकारी ने काफी आपत्ति जताई। इसके बाद वही समीप में मिडिल स्कूल महावीर गंज का निरीक्षण किया। जिसमें 3 शिक्षक उपस्थित पाए गए और कुल 7 शिक्षकों में से 2 शिक्षक जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय में अटैच और 2 शिक्षक B.Ed करने के लिए छुट्टी पर पाए गए। यहां भी विधायक ने हेड मास्टर को विद्यालय की समुचित व्यवस्था को दुरुस्त करने के निर्देश दिए। शासकीय महारानी लक्ष्मीबाई कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में कक्षा 9, 10, 11 और 12 की कक्षाओं की छात्राओं से विधायक ने स्वयं चर्चा की और उनसे न केवल स्कूल बल्कि शहर के हालातों पर भी जानकारी प्राप्त करना चाही। छात्राओं की मांग पर विधायक ने अपनी निधि से एक आर ओ वाटर कूलर और एक पर्यटन टूर कराए जाने की स्वीकृति दी। छात्राओं की शिकायत पर भूगोल के अस्थाई टीचर को हटाने के निर्देश भी विधायक के द्वारा दिए गए। यहां एक क्लास में पूरी क्लास शिक्षा मंत्री का नाम भी नहीं बता सकी।

सदर विधायक ने किया शासकीय स्कूल का निरीक्षण, अव्यवस्थाओं पर प्राचार्य को लगाई फटकार

शासकीय हायर सेकेंडरी स्कूल क्रमांक 2 में विधायक कुशवाह ने कक्षा 9 और 10 के बच्चों से रूबरू होकर चर्चा की और उनसे कई सवाल भी पूछे। जिसमें कुछ बच्चे संधि की परिभाषा भी नहीं बता सके। संस्कृत की कक्षा में जब एक संस्कृत के कवि का नाम पूछा तो बच्चे बगले झांकते हुए दिखाई दिए, लेकिन एक छात्र ने कवि कालिदास नाम बता कर शैक्षणिक व्यवस्था की लाज रख ली। यहां पर लगाए गए वाटर कूलर के न चलने पर विधायक ने प्राचार्य और चपरासियों को जमकर फटकार लगाई। जिला शिक्षा अधिकारियों ने दोनों भृत्यों को साफ सफाई ना होने के कारण तत्काल निलंबित करने के निर्देश दिए। वहीं विद्यालय परिसर में चल रहे निर्माण कार्यों की गुणवत्ता को लेकर प्रसन्नता जाहिर की। अंत में विधायक कुशवाह ने मीडिया से चर्चा करते हुए कहा कि क्योंकि मैंने दो दिवस पूर्व आयोजित एक शैक्षिक गुणवत्ता सुधार कार्यक्रम में यह बात स्वीकार की थी, कि गिरती हुई शैक्षिक व्यवस्था के लिए कहीं ना कहीं हम सब जिम्मेदार हैं। इसलिए भिंड में जब भी रहूंगा तो हर रोज एक साथ के स्कूल का निरीक्षण करने के लिए निकलूंगा। वहां पर न केवल शैक्षिक गतिविधियों का निरीक्षण किया जाएगा। बल्कि विद्यालय परिसर में कोई समस्या या बच्चों को कोई समस्या होगी तो उसका भी निराकरण मेरे द्वारा तत्काल प्रभाव से करवाया जाएगा।

अनुपस्थित शिक्षकों का कटा जाएगा 1 दिन का वेतन
विधायक संजीव सिंह कुशवाहा के साथ करने पहुंचे जिला शिक्षा अधिकारी हरिवंश सिंह तोमर को जब मिडिल स्कूल सुभाष नगर में विद्यालयीन समय मे शिक्षिकाएँ आरफीन बेगम, सीमा चंदेल, लक्ष्मी कुशवाहा व सीमा जाटव मिली तो उनका एक-एक दिन का वेतन काटने के निर्देश जारी किए गए हैं। साथ ही चेतावनी दी गई है कि भविष्य में यदि दोबारा इस प्रकार से स्कूल के समय में अनुपस्थित मिलेंगे तो उनके खिलाफ वेतन वृद्धि रोकने यह निलंबन की कार्यवाही की जाएगी।

यह भी पढ़ें….MLA रामबाई के पक्ष में उतरे इस IPS ने दिया ट्रोलर्स को करारा जवाब, कहा- विधायक ने पेश की मिसाल