कुएं में गैस जहरीली गैस से युवक की मौत,खबर सुनकर कुएं के मालिक के भी निकले प्राण

भिण्ड, गणेश भारद्वाज। भिंड जिले के रौन थाना क्षेत्र की मछंड चौकी अंतर्गत आने वाले थनूपुरा गांव में पानी की मोटर सुधारने उतरे दो लोग कुएं की जहरीली गैस का शिकार हो गए। यह दो लोग जब देर तक कुएं से नहीं निकले तो यह अफवाह फैल गई कि कुएं में दोनों की मौत हो गई जैसे ही यह अफवाह कुएं के मालिक लल्ला सिंह को लगी उन्हें हार्ट अटैक आ गया । लल्ला सिंह को आनन-फानन में जिला अस्पताल में भर्ती करवाया गया जहां उपचार के दौरान उनकी मौत हो गई। इसी बीच कुएं में रेस्क्यू कर एक व्यक्ति को तो स्थानीय ग्रामीणों के सहयोग से पुलिस के द्वारा बचा लिया गया, लेकिन नीचे उतरे दूसरे व्यक्ति को बचाने में पुलिस और ग्रामीण नाकामयाब साबित हुए , दूसरे व्यक्ति को निकाले जाने के प्रयास जारी है।

जबलपुर : मेडिकल साइंस यूनिवर्सिटी के कुलपति ने दिया इस्तीफा, लगे है गंभीर आरोप

रौन थाना प्रभारी उदय भान सिंह यादव के मुताबिक शनिवार की सुबह थनुपुरा के लल्ला सिंह ने अपने कुएं की मोटर सुधारने के लिए गांव के ही दो व्यक्तियों को कुएं में उतारा था। कुएं में क्योंकि पहले से जहरीली गैस थी इस गैस की वजह से दोनों व्यक्ति अंदर बेहोश हो गए और खबर फैल गई कि दोनों व्यक्तियों की मौत हो गई है। ऐसी खबर मिलने से कुएं के मालिक लल्ला सिंह घबरा गए और उनको हार्ट अटैक आ गया उन्हें उपचार के लिए तत्काल जिला अस्पताल भिंड ले जाया गया। लेकिन वहां उन्होंने उपचार के दौरान दम तोड़ दिया। दूसरी ओर कुएं में उतरे 38 वर्षीय बड़े सिंह पुत्र कपूरे राजावत की जहरीली गैस के कारण मौत हो गई, जो दूसरा व्यक्ति 55 वर्षीय कल्लू कुएं में उतरे थे उनको ग्रामीणों और पुलिस के द्वारा रेस्क्यू करके बाहर निकाला गया और उपचार के लिए लहार अस्पताल भेजा गया है। खबर लिखे जाने तक बड़े सिंह का शव कुएं से नहीं निकाला जा सका था। अब ग्वालियर से एक टीम बुलाई गई है जो रेस्क्यू करके उस शव को कुएं से निकालने का काम करेगी ।

करीब 10 रोज पहले भी अटेर थाना क्षेत्र के परा गांव में एक कुएं में जहरीली गैस के रिसाव होने के कारण 3 लोगों की मौत हो गई थी। जानकारों की मानें तो जब किसी क्षेत्र में बाढ़ का प्रकोप होता है और चारों तरफ पानी भर जाता है तो उस क्षेत्र के कुओं में जहरीली गैस की समस्या सामनें आती है।