लापरवाही पर बड़ा एक्शन- छतरपुर और अशोकनगर के 3 शिक्षक तत्काल प्रभाव से निलंबित

निलंबित

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में सरकारी कामों में लापरवाही पर आए दिन शिक्षकों पर बड़ी कार्रवाई की जा रही है। अब छतरपुर 1 और अशोकनगर जिले में 2 के शिक्षकों को शासकीय कार्यों में अनुशासनहीनता उदासीनता बरतने पर तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है।हाल ही में बड़वानी कलेक्टर (Badwani Collector)ने  4 शिक्षकों (Teacher) को निलंबित (Suspended) और 12 शिक्षकों की 1-1 वार्षिक वेतन वृद्धि असंचयी प्रभाव से रोकने के निर्देश दिए थे।

यह भी पढ़े.. NATA Exam 2021: MPPSC की तरह नाटा पर लॉकडाउन का असर नहीं, 10 अप्रैल को ही होगी

पहला मामला छतरपुर (Chhatarpur District) जिले का है। यहां सागर कमिश्नर (Sagar Commissioner) मुकेश शुक्ला ने छतरपुर जिले के शासकीय हाईस्कूल निवार की प्राचार्य  मीना सिंह को अपने पदीय कर्तव्यों के प्रति लापरवाही, अनुशासनहीनता एवं कर्तव्यविमुखता पर तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है।यह कार्यवाही मध्यप्रदेश सिविल सेवा अधिनियम के तहत की है।निलंबन अवधि में  सिंह का मुख्यालय कार्यालय संयुक्त संचालक लोक शिक्षण सागर संभाग, सागर नियत किया गया है और नियमानुसार जीवन निर्वाह भत्ते की पात्रता होगी।

दूसरा मामला अशोकनगर (Ashoknagar District) का है, जहां जिला शिक्षा अधिकारी (District Education Officer) ए.एन.मिश्रा द्वारा शासकीय कार्य में गंभीर कदाचरण एवं उदासीनता बरतने पर विकासखण्‍ड ईसागढ़ के शासकीय प्राथमिक विद्यालय अमरोद बद्दू के प्रा‍थमिक शिक्षक रामवली सिंह रघुवंशी को तत्‍काल प्रभाव से निलंबित किया गया है। निलंबन अवधि में इनका मुख्‍यालय विकासखण्‍ड शिक्षा अधिकारी ईसागढ़ रहेगा।

यह भी पढ़े.. 60 घंटे के लॉकडाउन से पहले डरावनी तस्वीरें- सड़कों पर जनसैलाब, नो सोशल डिस्टेंसिंग

वही अशोकनगर कलेक्‍टर अभय वर्मा द्वारा शासकीय भूमि पर अतिक्रमण किये जाने तथा शासकीय कार्य में गंभीर कदाचरण एवं उदासीनता बरतने पर विकासखण्‍ड ईसागढ़ के शासकीय माध्‍यमिक विद्यालय देपालखेडी के माध्‍यमिक शिक्षक महेन्‍द्र सिंह रघुवंशी को तत्‍काल प्रभाव से निलंबित किया गया है। निलंबन अवधि में इनका मुख्‍यालय विकासखण्‍ड शिक्षा अधिकारी ईसागढ़ रहेगा।