भोपाल : एक-एक कमरे में चल रहीं जिले की 1872 में से 941 आंगनवाड़ी, महिला बाल विकास विभाग, कलेक्टर को नोटिस जारी

अधिकांश आंगनवाड़ियों केंद्रो पर पीने के पानी, बिजली-पंखा एवं बच्चों के लिये बैठने के लिये पर्याप्त कमरे एवं भवन नहीं होनेे से बच्चों समेत कार्यकर्ता-सहायिकाओं को कई तरह की परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

Avatar
Published on -

BHOPAL NEWS : भोपाल जिले की अधिकांश आंगनवाड़ियों में आने वाले बच्चों एवं कार्यकर्ता-सहायिकाओं को मूलभूत सुविधायें नही मिलने का मामला सामने आया है। अधिकांश आंगनवाड़ियों केंद्रो पर पीने के पानी, बिजली-पंखा एवं बच्चों के लिये बैठने के लिये पर्याप्त कमरे एवं भवन नहीं होनेे से बच्चों समेत कार्यकर्ता-सहायिकाओं को कई तरह की परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

आयोग का नोटिस 

मामले में संज्ञान लेकर मध्यप्रदेश मानव अधिकार आयोग ने संचालक, महिला एवं बाल विकास विभाग, भोपाल एवं कलेक्टर, भोपाल से मामले की जांच कराकर जिले के जिन आंगनवाड़ी केंद्रों पर टायलेट/पानी (पेयजल एवं अन्य उपयोग हेतु) नहीं है, वहां तत्काल इन आधारभूत सुविधाओं की व्यवस्था सुनिश्चित कराये जाने के सम्बन्ध में की गई कार्रवाई का प्रतिवेदन एक माह में मांगा है।

 


About Author
Avatar

Sushma Bhardwaj

Other Latest News