नमामि गंगे अभियान : एक्शन में भोपाल महापौर मालती राय, छोटे तालाब में कचरा फेंक रहे व्यक्ति को लगाई फटकार, सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल

आचार संहिता खत्म होने के बाद भोपाल महापौर मालती राय भी सरकार द्वारा शुरू नमामि गंगे अभियान को सफल बनाने में पूरी तरह से जुटी हुई है।

malti rai

Namami Gange Abhiyan : 5 से 16 जून यानी गंगा दशहरे के दिन तक मध्य प्रदेश सरकार ने नमामि गंगे अभियान मनाने का फैसला लिया है। इस फैसले के तहत सरकार, सरकार के विभाग और आम जनता द्वारा जल स्रोतों के संरक्षण और साफ सफाई को लेकर कार्य किया जा रहे हैं।

आचार संहिता खत्म होने के बाद भोपाल महापौर मालती राय भी इस अभियान को सफल बनाने में पूरी तरह से जुटी हुई है। और इस अभियान को सफल बनाने को लेकर भोपाल की सड़कों पर निकली है।

इस दौरान जब मालती राय छोटे तालाब की ओर गई तब वहां उन्होंने एक व्यक्ति को तालाब में बोरी भरकर कचरा फेंकने जाते हुए देखा। व्यक्ति को देखते ही न केवल महापौर राय ने जमकर उसकी फटकार लगाई बल्कि व्यक्ति ने मालती राय से कान पड़कर माफी भी मांगी।

इस घटना का वीडियो अब सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है और लोग भोपाल महापौर मालती राय की जमकर तारीफ भी कर रहे हैं।


About Author
Shashank Baranwal

Shashank Baranwal

पत्रकारिता उन चुनिंदा पेशों में से है जो समाज को सार्थक रूप देने में सक्षम है। पत्रकार जितना ज्यादा अपने काम के प्रति ईमानदार होगा पत्रकारिता उतनी ही ज्यादा प्रखर और प्रभावकारी होगी। पत्रकारिता एक ऐसा क्षेत्र है जिसके जरिये हम मज़लूमों, शोषितों या वो लोग जो हाशिये पर है उनकी आवाज आसानी से उठा सकते हैं। पत्रकार समाज मे उतनी ही अहम भूमिका निभाता है जितना एक साहित्यकार, समाज विचारक। ये तीनों ही पुराने पूर्वाग्रह को तोड़ते हैं और अवचेतन समाज में चेतना जागृत करने का काम करते हैं। मशहूर शायर अकबर इलाहाबादी ने अपने इस शेर में बहुत सही तरीके से पत्रकारिता की भूमिका की बात कही है–खींचो न कमानों को न तलवार निकालो जब तोप मुक़ाबिल हो तो अख़बार निकालोमैं भी एक कलम का सिपाही हूँ और पत्रकारिता से जुड़ा हुआ हूँ। मुझे साहित्य में भी रुचि है । मैं एक समतामूलक समाज बनाने के लिये तत्पर हूँ।

Other Latest News