फ्लोर टेस्ट से पहले बीएसपी विधायकों के तेवर सख्त, कांग्रेस को समर्थन पर दिया बड़ा बयान

BSP-leader-warning-to-congress-before-floor-test

भोपाल। मध्य प्रदेश में कांग्रेस सरकार बनाने में कामयाब तो हो गई है लेकिन सोमवार को पार्टी की अग्नी परीक्षा है। कांग्रेस को सदन में बहुमत पेश करना होगा। लेकिन इससे पहले बीएसपी के विधायकों के तेवर बदले हुए नजर आ रहे हैं। एक ओर सियासी हल्कों में इस बात का शोर है कि बीजेपी खरीद फरोख्त कर सकती है वहीं अब बीएसपी की विधायक रामबाई ने भी बड़ा बयान दे कर कांग्रेस को संकेत दे दिए हैं कि उनकी उपेक्षा पार्टी को भारी पड़ सकती है। विधायक रामबाई ने कहा कि हम बीएसपी प्रमुख बहन जी मायावती के आदेश का पालन करेंगे। अगर उन्होंने समर्थन के लिए कहा है तो हम कांग्रेस के साथ हैं अगर वह मना करेंगी तो हम पीछे हट जाएंगे। 

उन्होंने कहा कि कांग्रेस को यह तय करना होगा कि हमारी भागीदारी सरकार में क्या होगी। हमें अब तक ये समझ नहीं आ रहा है कि हमारी भागीदारी अभी क्या है। बीजेपी नेताओं से संपर्क में होने के सवाल पर उन्होंने कहा कि राजनीति में मिलने के लिए सभी दल के लोग आते हैं। बीजेपी के लोग भी आ रहे हैं। भोपाल में भी कई नेताओं ने मुलाकात की। लेकिन हम बहनजी के आदेश का पालन कर रहे हैं इसलिए कांग्रेस के साथ हैं। अगर बहनजी का आदेश नहीं होता तो हम कांग्रेस को बताते। वहीं, उनसे पूछा गया कि क्या बीएसपी विधायक विधानसभा अध्यक्ष की दौड़ में शामिल हैं उन्होंने इस सवाल के जवाब में कहा कि इसका निर्णय बहनजी करेंगी। 

वहीं, बीएसपी के दूसरे विधायक संजीव कुशवाहा ने भी बड़ा बयान देते हुए कहा कि जनता का जो मैडेट है वह बीजेपी के खिलाफ है पर कांग्रेस को भी स्पष्ट बहुमत नहीं दिया है। लोग अपना प्रयास करते हैं राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कांग्रेस को बिना शर्त समर्थन दिया है इसलिए अभी कांग्रेस हम कांग्रेस के साथ है। बीजेपी के संपर्क में होने के सवाल पर उन्होंने कहा कि, मैं पहले बीजेपी में था। संपर्क सबसे होता है। राजनीति में संवादहीनता नहीं होना चाहिए। सबसे मिलते रहना चाहिए। रही बात मंत्री बनने की तो इसका निर्णय बहनजी लेंगी। 

गौरतलब है कि विधानसभा चुनाव में कांग्रेस बहुमत से सिर्फ दो सीट दूर रह गई थी। उसको 114 सीटों पर जीत मिली है। वहीं, दो सीटें बीएसपी के खाते में एक सीट सपा के पास और अन्य के खाते में हैं। बीजेपी को 109 सीटें मिली हैं। कांग्रेस को बीएसपी का समर्थन मिला है साथ ही एक निर्दलीय विधायकों ने भी बाहर से पार्टी को समर्थन दिया है। सोमवार को विधानसभा सत्र का पहला दिन है कांग्रेस को फ्लोर टेस्ट पास करना है। उससे पहले बीएसपी के विधायक ने अपने तेवर सख्त कर लिए हैं। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here