आर्थिक दृष्टि से कमजोर ब्लैक फंगस मरीजों का इलाज होगा फ्री – शिवराज

शिवराज ने कहा कि ब्लैक फंगस के शिकार हुए जो लोग आर्थिक रूप से कमजोर है उनका इलाज नि:शुल्क किया जाएगा।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) कोरोना संक्रमण (Corona infection) से पहले से ही परेशान था और उसके बीच एक और नए संक्रमण ने प्रदेश में दस्तक दी है जिसका नाम है म्यूकरमायकोसिस यानी ब्लैक फंगस (Black fungus) जो कुछ दिनों से प्रदेश में लोगों को अपना शिकार बना रहा है। जिसके मद्देनजर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) ने अधिकारियों के साथ बैठक की और इस नए संक्रमण की रोकथाम के लिए जरूरी दिशा निर्देश दिए साथ ही कहा कि ब्लैक फंगस के शिकार हुए जो लोग आर्थिक रूप से कमजोर है उनका इलाज नि:शुल्क किया जाएगा।

यह भी पढ़ें…बुरहानपुर: कोरोना कर्फ्यू का उल्लंघन करने वालों को पुलिस ने सिखाया सबक, निकाला पैदल मार्च

अब तक प्रदेश में 50 मरीज संक्रमित
शिवराज ने बताया कि प्रदेश में ब्लैक फंगस की घटनाएं लगातार सामने आ रही है जो भयानक है, यह एक चिंता का विषय है इसमें मुंह, दांत, नाक, आंख, मस्तिष्क और बाकी अंक भी संक्रमित हो जाते हैं अभी तक प्रदेश में 50 मरीजों की पुष्टि हुई है। कोरोना के बाद ये गंभीर बीमारी सामने आई है यह हमारी जिम्मेदारी है कि उसका इलाज भी हमें ही सुनिश्चित करना है।

आर्थिक रूप से कमजोरों का होगा फ्री इलाज
मुख्यमंत्री शिवराज ने अधिकारियों से बैठक में इस बीमारी के इलाज के प्रोटोकॉल जारी करने के निर्देश दिए साथ ही बीमारी से जुड़ी सारी जानकारियां और सावधानियां जनता को बताने के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इलाज के प्रोटोकॉल के अनुसार उपचार सुनिश्चित किया जाए। वही उपचार भी महंगा होता है, इंजेक्शन महंगे लगते हैं, इसलिए मामले में राज्य शासन पेशेंट को भरपूर सहयोग करेगा जो आर्थिक दृष्टि से कमजोर हैं और उन्हें नि:शुल्क इलाज की व्यवस्था सुनिश्चित करने का पूरा प्रयास करेंगे। उन्होंने आहे कहा कि अगर शुरुआत में ही इस देना आवशयक है इसका इलाज संभव है।

ब्लैक फंगस के लक्षण
•नाक बंद होना
•आंख और नाक के पास दर्द और लाल होना
•बुखार, सर दर्द, खांसी
•सांस फूलना और खून की उल्टियां होना
•मानसिक रूप से अस्वस्थ होना
•कन्फ्यूजन की स्थिति पैदा होना