जु़ड़वा बच्चों की हत्या पर बोले भार्गव- अब प्रदेश में 2 ही उद्योग चलेंगें एक अपहरण, दूसरा ट्रांसफर

gopal-bhargwa-raise-question-on-satna-kidnapping-case-kidnappers-killed-twins-in-banda

भोपाल।

सतना के चित्रकुट से अगवा बच्चों की फिरौती लेने बाद भी निर्मम हत्या करने के बाद पुलिस की नाकामी सामने आई है। कानून व्यवस्था पर फिर सवाल उठने लगे है। नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने दोनों बच्चों की मौत के लिए प्रदेश की कमलनाथ सरकार को जिम्मेदार ठहराया है।भार्गव ने आरोप लगाते हुए कहा है कि अब प्रदेश में दो ही उद्योग चलेगे एक अपहरण का दूसरा ट्रांसफरों का ।चाहें तो इन दोनों उद्योगों की इन्वेस्टर समिट भी बुला सकते है, क्योंकि अशांति के इस माहौल में अब कोई उद्योगपति गपति तो आने से रहा ।वही घटना के बाद पूरे सतना में तनाव का माहौल है , लोग सड़कों पर उतरकर प्रदर्शन कर रहे है।

दरअसल, गोपाल भार्गव ने ट्वीटर पर शोक व्यक्त करते हुए लिखा है कि चित्रकूट से अपहृत हुए दोनों बच्चों के आज शव प्राप्त होने की दुखद सूचना प्राप्त हुई है, मृत हुए दोनों बच्चों की आत्मा को ईश्वर शांति दे और उनके माता-पिता एवं परिवारजनों को यह गहन दुःख सहन करने  की शक्ति प्रदान करे । वही अगले ट्वीट में इस घटना के लिए प्रदेश सरकार को जिम्मेदार ठहराते हुए लिखा है कि प्रदेश सरकार और प्रशासन चित्रकूट के अपहृत जुड़वा बालको को अपहरण कर्त्ताओं से मुक्त कराने में 12 दिन बाद भी असफल हुए और अंततः उन स्कूली बच्चों की निर्मम हत्या कर दी गई। लेकिन प्रदेश सरकार ट्रांसफरों में मस्त है, प्रशासनिक रिक्तता और अराजकता भीषण रूप से प्रदेश ने व्याप्त हो चुकी है । 

भार्गव यही नही रुके उन्होंने आगे लिखा है कि अब प्रदेश में दो ही उद्योग चलेगे एक अपहरण का दूसरा ट्रांसफरों का । चाहें तो इन दोनों उद्योगों की इन्वेस्टर समिट भी बुला सकते है, क्योंकि अशांति के इस माहौल में अब कोई उद्योगपति गपति तो आने से रहा ।

पूर्व गृहमंत्री ने भी उठाए सवाल

पूर्व गृहमंत्री भूपेन्द्र सिंह ने भी इस घटनाक्रम के बाद शोक व्यक्त करते हुए सरकार पर बड़ा हमला बोला है। सिंह ने ट्वीटर के माध्यम से लिखा है कि  तबादला उद्योग चलाने में व्यस्त इस सरकार ने मप्र की कानून व्यवस्था को ध्वस्त कर दिया है। चित्रकूट में अपहृत जुड़वां भाइयों की हत्या दुःखद हैं,13 दिनों बाद भी बच्चों को सुरक्षित वापिस नहीं ला पाने वाली सरकार जवाब दे कि अपराधियों के हौंसले बुलंद क्यों हो गए।वही प्रदेश उपाध्यक्ष विजेश लुनावत ने भी नाराजगी जाहिर की है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा है कि चित्रकूट से अगवा दो मासूम स्कूली बच्चों के शव यूपी के बाँदा से बरामद । शर्म करो हे कमलनाथ…..अबकी बार रिकार्ड तोड़ अपराधों की सरकार!!!

गौरतलब है कि यहां से 12 फरवरी को अगवा किए गए दो जुड़वां बच्चों शिवम और देवांग की शनिवार को हत्या कर दी गई। दोनों के शव उत्तरप्रदेश के बांदा में नदी के पास मिले। बताया जा रहा है कि अपहरणकर्ताओं ने 20 लाख की फिरौती मिलने के बाद भी बच्चों की हत्या कर दी।  दोनों बच्चों की उम्र 5 साल थी। वे छुट्टी के बाद चित्रकूट के स्कूल से सतना वापस आ रहे थे। उस दौरान बदमाशों ने स्कूल बस से अगवा कर लिया। पूरी वारदात बस में लगे सीसीटीवी में रिकॉर्ड हुई थी। फुटेज में बदमाश रिवॉल्वर दिखाकर बच्चों का अपहरण करते नजर आए थे। पुलिस के मुताबिक- बदमाशों ने पहले बंदूक दिखाकर बस को रुकवाया और फिर दोनों बच्चों को बस से उठाकर ले गए। बच्चे चित्रकूट के सद्गुरु ट्रस्ट के एसपीएस स्कूल में पढ़ते थे।