Kamal-Nath-Cabinet-will-constitute-on-25th--two-dozen-ministers-will-take-oath

भोपाल|  मध्य प्रदेश में 15 साल बाद सत्ता में आई कांग्रेस के लिए 25 दिसम्बर का दिन ऐतिहासिक होने वाला है| इस दिन कमलनाथ मंत्रिमंडल के दो दर्जन मंत्री शपथ लेंगे| राजभवन में मंत्रियों का शपथ ग्रहण समारोह तीन बजे से होगा। जिसके लिए तैयारी पूरी हो चुकी हैं|  वहीं मानती बाने वाले नेता और समर्थकों का भोपाल में जमावड़ा लग चुका है| वहीं दिल्ली में पांच दिन तक मंथन के बाद नामों पर मुहर लग चुकी है, लेकिन नामों को लेकर खुलासा नहीं किया गया है| 

गुरूवार शाम को दिल्ली पहुंचे सीएम कमलनाथ ने वरिष्ठ नेताओं और कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गाँधी से कई बार मुलाकात की | सोमवार को भी दिन भर बैठकों के बाद रात तक बैठकें चलती रही| जिस पर अंतिम मंथन हुआ है| क्षेत्रीय संतुलन और सभी क्षत्रपों के समर्थकों को मौक़ा दिया जाएगा|  सूत्रों के मुताबिक कैबिनेट में ज्योतिरादित्य सिंधिया खेमे का दबदबा होगा| कमलनाथ के बाद सिंधिया समर्थक विधायकों को मंत्रिमंडल में सबसे ज़्यादा जगह मिल सकती है| इसके अलावा मालवा-निमाड़ को तरजीह दी जाएगी उसके बाद ग्वालियर चंबल संभाग के विधायक शामिल होंगे| मुख्यमंत्री कमलनाथ अभी दिल्ली में ही हैं| सुबह तक वह भोपाल लौटेंगे| इससे पहले उन्होंने वरिष्ठ नेताओं से बैठक की और अंतिम मंथन किया, इस बैठक में मध्य प्रदेश कांग्रेस के कई नेताओं सहित राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष अहमद पटेल, राज्य के प्रभारी दीपक बावरिया, और दिग्विजय सिंह मौजूद रहे| 

अभी तक नामों को लेकर कोई जानकारी का खुलासा नहीं किया गया है| लेकिन सूत्रों के मुताबिक संभावित मांतिमंडल यह हो सकता है|  डॉ. गोविंद सिंह, आरिफ अकील, केपी सिंह, बिसाहूलाल सिंह, बृजेंद्र सिंह राठौर, बाला बच्चन, जीतू पटवारी, डॉ. प्रभुराम चौधरी, प्रद्युम्न सिंह तोमर, इमरती देवी, गोविंद सिंह राजपूत, तुलसीराम सिलावट, राजवर्द्धन सिंह, लाखन सिंह यादव, बृजेंद्र सिंह राठौर, कमलेश्वर पटेल, हिना कांवरे, झूमा सोलंकी, लखन घनघोरिया, तरुण भनोत, दीपक सक्सेना, हुकुमसिंह कराड़ा, सज्जन सिंह वर्मा, लक्ष्मण सिंह या जयवर्द्धन सिंह मंत्री बन सकते हैं| वहीं बसपा से एक नाम और दो नाम निर्दलीय के हो सकते है|  इसके अलावा विधानसभा अध्यक्ष के लिए डॉ. विजयलक्ष्मी साधौ और एनपी प्रजापति में से जिसे भी स्पीकर चुना जाता है तो अन्य को मंत्रिमंडल में लिए जाने की संभावना है। दो निर्दलीय प्रत्याशियों प्रदीप जायसवाल और ठा. सुरेंद्र सिंह शेरा भैया को मंत्रमंडल में जगह मिलना लगभग तय है| मंगलवार को शपथ ग्रहण समारोह होना है लेकिन अभी तक किसी मंत्री बनाए जा रहे किसी विधायक को न्योता नहीं मिला है| माना जा रहा है कि देर रात तक उन तक फोन पहुंच सकता है|

हर मंत्री अलग लेगा शपथ

मंत्रियों के शपथ समारोह को लेकर राज्यभवन में तैयारी हो चुकी है| मोतीलाल विज्ञान महाविद्यालय (एमवीएम) के खेल मैदान में बैठक व्यवस्था बनाई जा रही है। यहां एलईडी स्क्रीन लगाई जाएंगी, ताकि दूरदराज से आने वाले समर्थक कार्यक्रम देख सकें। वहीं, राजभवन में जगह की कमी को देखते हुए सिर्फ चुनिंदा वाहनों की पार्किंग ही होगी। मिंटो हॉल परिसर में अस्थायी पार्किंग व्यवस्था बनाई गई है। मंत्रियों के दस समर्थक साथ चलेंगे, लेकिन सौ मीटर दूर ही समर्थकों को रोक दिया जाएगा| एक एक मंत्री अलग अलग शपथ लेंगे|