विधायक आरिफ मसूद ने लगाए कोरोना के इलाज में अनियमितताएं बरतने के आरोप

बिगड़ती स्वास्थ्य सेवाओं के विरोध में कांग्रेस ने किया मुख्यमंत्री निवास का घेराव

arif-masood

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट| मध्य प्रदेश (Madhy Pradesh) में कोरोना के इलाज (Corona Treatment) के मामले में कई तरह की अनियमितताएं (Irregularities) सामने आ रही हैं। कई मरीजों का इलाज ही नहीं हो रहा है, और कई मरीजों को इलाज के नाम पर प्रताड़ित किया जा रहा है। इसके अलावा अन्य राज्यों में जो इलाज और जांच मामूली रकम में हो रही है, वो मध्यप्रदेश में बहुत ज्यादा दामों पर हो रही है। इन सब मामलों को लेकर भोपाल मध्य से कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद (Bhopal Madhya MLA Arif Masood) ने अपने सैकड़ों समर्थकों के साथ विरोध जताया और चेतावनी दी है कि, अगर कोरोना मरीजों का इलाज में चल रही लापरवाही (Negligence) में सुधार नहीं हुआ, तो आगे उग्र प्रदर्शन करने के लिए मजबूर होंगे।

आरिफ मसूद के नेतृत्व में यह प्रदर्शन कमला पार्क (Kamala Park) में रखा गया था। प्रदर्शन में शामिल होने के लिए सैकड़ों लोग रेतघाट पर इकट्ठे हुए और मुख्यमंत्री के निवास (CM House) का घेराव करने के लिए आगे बढ़े, लेकिन पुलिस और प्रशासन ने उन्हें कमला पार्क पर बैरिकेड लगाकर रोक लिया। पुलिस प्रशासन से हुई बातचीत के आधार पर आरिफ मसूद ने वहीं पर प्रदर्शन समाप्त कर दिया, उन्होंने प्रशासन को चेतावनी दी है कि, कोरोना के नाम पर जो जो गड़बड़ी भ्रष्टाचार और लापरवाही हो रही हैं, अगर उसे रोका नहीं गया तो आगे उग्र प्रदर्शन के लिए मजबूर होंगे।

आरिफ मसूद का कहना है कि, ‘कोरोना के इलाज के नाम पर भारी भ्रष्टाचार हो रहा है। जो जांच यहां मामूली पैसों में हो सकती है, वो अहमदाबाद करने के लिए भेजी जा रही है। लोगों को अस्पताल में इलाज नहीं मिल रहा है और सरकार कोरोना के नाम से जो मदद कर रही है, वो भी लोगों तक नहीं पहुंच रही है’। उन्होंने कहा कि, ‘कोरोना के नाम पर कई तरह की अनियमितताएं भ्रष्टाचार और गड़बड़ियां हो रही हैं। विधानसभा में हम इन मुद्दों को उठाना चाहते थे। लेकिन हमें उठाने नहीं दिया गया। इसलिए हमें मजबूरी में सड़क पर प्रदर्शन करना पड़ा है। अगर हमारी बातों पर गौर नहीं किया गया, तो आगे हम और भी उग्र प्रदर्शन करेंगे’।