MP : अपराधियों को पकड़ने के लिए पुलिस लेगी देशी नस्ल का सहारा, इन देशी डॉग्स ब्रीड को किया शामिल

देश अपराधियों की धरपकड़ के लिए डॉग स्क्वायड (Dog Squad) में विदेशी डॉग्स का इस्तेमाल करते आए है। लेकिन अब मध्यप्रदेश पुलिस (MadhyaPradesh Police) देशी डॉग्स को भी मौका देने जा रही है। मध्य प्रदेश पुलिस के इतिहास में यह पहली बार है, जब किसी देसी ब्रीड के डॉग पर पुलिस विश्वास जता रही है।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। देश अपराधियों की धरपकड़ के लिए डॉग स्क्वायड (Dog Squad) में विदेशी डॉग्स का इस्तेमाल करते आए है। लेकिन अब मध्यप्रदेश पुलिस (MadhyaPradesh Police) देशी डॉग्स को भी मौका देने जा रही है। मध्य प्रदेश पुलिस के इतिहास में यह पहली बार है, जब किसी देसी ब्रीड के डॉग पर पुलिस विश्वास जता रही है।

यह भी पढ़ें…Gold Silver Rate: सोने और चांदी की कीमतों में दिखी चमक, जानिए क्या है भाव

जानकारी के मुताबिक भोपाल में डॉग स्क्वॉड का मुख्यालय 23 वीं बटालियन में है। जहां देशी ब्रीड की छह नस्ल के पपीज (Papies) को ट्रेनिंग के लिए लाया गया है। इन सभी को पुलिस अपने मुताबिक ट्रेनिंग (Training) देगी। इससे पहले सेना और पैरामिलिट्री फोर्स ने देशी ब्रीड के डॉग का इस्तेमाल शुरू किया था। उन्हीं को देखते हुए प्रदेश पुलिस भी अब ये देसी नस्ल के कुत्तों को मौका दे रही है। बतादें, भारतीय प्रजाति के डॉग्स का मेंटेनेंस विदेशी डॉग्स की तुलना में काफी आसान और सस्ता होगा। क्योंकि देशी डॉग्स लोकल पर्यावरण के हिसाब से ढल जाएंगे। इस कुत्तों की सहनशक्ति ,सुनने की क्षमता और चुस्ती फुर्ती भी उच्च स्तर की होती है। बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने मन की बात कार्यक्रम में देसी नस्ल के डॉग को पुलिस और सेना में शामिल करने की बात की थी।

ये ब्रीड होंगी शामिल
मुधोल हाउंड (Mudhol Hound Dog) रामपुर ग्रेहाउंड (Rampur Grey Hound) राजा पलायम (Raja Palayam Dog) कन्नी (Kanni Dog) कोम्बाई (Combi Dog) और चिप्पीपराई (Chippiparai Dog) ये ऐसी 6 ब्रीड है जिन्हे डॉग इन्वेस्टिगेशन में शामिल किया गया है।

यह भी पढ़ें… Dewas News : एक बार फिर कांग्रेस नेता शिवा चौधरी के अवैध निर्माण पर प्रशासन की कार्रवाई