इन सीटों पर कांग्रेस उम्मीदवारों का विरोध, पुनर्विचार ना करने पर इस्तीफे की धमकी, पार्टी में हड़ंकप

opposition-congress-candidate-in-mandla-khargone-and-murena-madhypradesh

भोपाल

लोकसभा चुनाव के लिए कांग्रेस ने मध्यप्रदेश में  अबतक 22  सीटों पर उम्मीदवारों का ऐलान कर दिया है। हाल ही में गुरुवार को 13  प्रत्याशियों की लिस्ट जारी हुई।जिसमें कई सीटों पर उम्मीदवारों का विरोध देखने को मिल रहा है। सबसे ज्यादा मुरैना, मंडला और खरगोन पर विरोध हो रहा है।खरगोन में तो प्रत्याशी का नाम वापस ना लिए जाने पर स्थानीय नेताओं द्वारा इस्तीफे दिए जाने की चेतावनी तक दी गई है।वही इस विरोध के बाद पार्टी में हड़कंप मच गया है।

दरअसल, भाजपा की तरह कांग्रेस में उम्मीदवारों का तेजी से विरोध हो रहा है। नेता पैराशूट नेताओं को टिकट देने का विरोध कर रहे है। मंडला से कमल मरावी को प्रत्याशी बनाए जाने का पूर्व मंत्री गंगाबाई उरेती ने विरोध दर्ज किया है। उरेती ने मरावी को पैराशूट उम्मीदवार बताया।  इधर, मुरैना से दिग्गज नेता रामनिवास रावत को प्रत्याशी घोषित किए जाने का स्थानीय स्तर पर विरोध हो रहा है। इस सीट से किसी ब्राह्मण उम्मीदवार को टिकट दिए जाने की मांग उठ रही थी। 

वही खरगोन में लोकसभा सीट पर डॉ. गोविंद मुजाल्दे के प्रत्याशी घोषित किए जाने की पूर्व जिलाध्यक्ष सुखलाल परमार ने खिलाफत कर दी और प्रत्याशी के बारे में पुनर्विचार नही किए जाने की स्थिति में सामूहिक इस्तीफे की भी चेतावनी दे दी है। परमार लंबे समय तक बड़वानी जिले से अध्यक्ष रहे हैं। अभी वे और उनकी पत्नी सुभद्रा परमार जिला पंचायत सदस्य हैं। परमार ने कहा कि हम पिछले तीस सालों से भाजपा के खिलाफ धरने प्रदर्शन कर पार्टी में है, लेकिन टिकट वितरण में हमारी राय को ही उचित नहीं समझा गया। उन्होंने कहा कि पार्टी ने ऐसे व्यक्ति को टिकट दिया है जिसने कांग्रेस की पांच रूपए देकर प्राथमिक सदस्यता तक नहीं ली है। उम्मीदवारों के बढ़ते विरोध के कारण कांग्रेस में हड़कंप मच गया है, पार्टी नेताओं द्वारा लगातार स्थिति को संभालने की कोशिश की जा रही है।