खजूरी पुलिस की मिलीभगत से होता है तेल का खेल!

police-raid-in-capital-to-stop-petrol-smuggling-

भोपाल। विगत वर्ष पेट्रोल से भरी रेक में पाइप डालकर पेट्रोल चोरी करते समय तेल डिपो में भीषण आग लग गई थी। जिससे पेट्रोल से भरी कई रेक जलकर खाक हो गई थी। तब खजूरी पुलिस और तेल चोरों की मिली भगत का खुलासा हुआ था। खजूरी के कई इलाकों में दुकानों और ढाबो पर रखकर पेट्रोल और डीजल खुले आम बेचा जाता था। घटना के बाद में पुलिस ने कई स्थानों पर छापेमारी कर पेट्रोल चोर गिरोह का खुलासा किया था। कल गुनगा पुलिस ने खजूरी में जो कार्रवाई की है, इससे खजूरी पुलिस और तेल चोरों की मिली भगत का एक बार फिर खुलासा हुआ है। आरोपियों के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर लिय गया है। 

गुनगा थाना प्रभारी डीपी सिंह के मुताबिक खजूरी सड़क इलाके में काफी समय से टैंकरों से डीजल और पेट्रोल चोरी कर बेचने की शिकायत वरिष्ठ अधिकारियों को मिल रही थी। शनिवार को मुखबिर के सूचना मिली कि ग्राम बरखेड़ा बोंदर इलाके में हिंदुस्तान पेट्रोलियम के एक टैंकर से डीजल और पेट्रोल चोरी कर बेचा जाने वाला है। इस सूचना के वरिष्ठ अधिकारियों ने गुनगा थाना प्रभारी के नेतृत्व में एक विशेष टीम बनाकर छापामारी के लिए भेजा। मौके पर पहुंची पुलिस टीम रमेश नागर के टपरे पर पहुंची तो वह टीम को देखकर मौके से भाग निकला। इस दौरान दो अन्य लोगों ने भागने का प्रयास किया, जिसे पुलिस टीम ने दबोच लिया। पूछताछ करने पर एक टैंकर का चलाक और दूसरा रमेश नागर का कर्मचारी निकला। पूछताछ के बाद पुलिस ने छापेमारी की तो मौके से करीब एक हजार लीटर डीजल-पेट्रोल बरामद हुआ। पुलिस ने टैंकर चालक इकबाल खान निवासी छोला रोड और कर्मचारी यासीन मलिक निवासी बरखेड़ा बोंदर को गिरफ्तार कर लिया। जबकि फरार हुए रमेश नागर निवासी बैरागढ़ की तलाश की जा रही है। तीनों के खिलाफ  आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत प्रकरण दर्ज किया गया है।