युवक को बंधक बनाकर बेरहमी से पीटा, चोर ��ाबित करने के लिए जेब में रखे रूपए

-Ruthlessly-beaten-the-young-man-hostage-and-proved-to-be-a-thief-money-kept-in-pocket

भोपाल। रातीबड़ इलाके में दिल दहलादेने वाला मामला सामने आया है। जहां एक युवक को दो भाईयों ने कमरे में बंधक बनाकर जमकर पीटा गया। आरोपियों ने दबाव बनाया कि वह पुलिस बुला रहे हैं, पुलिस के सामने उसे पड़ोसी पर हत्या की सुपारी देने के आरोप लगाने हैं। बात नहीं मानने पर युवक को चोर साबित करने के षण्यंत्र रचा गया। उसकी जेब में रूपए ठूंस दिए और हाथ में चाकू पकड़ा दिया। इसके बाद उसकी वीडियो बनाई गई। आरोपी चाहते थे कि फरियादी उनके पुराने दुश्मन तथा पड़ोसी के खिलाफ फर्जी मुकदमा दर्ज कराए। 

पुलिस के मुताबिक विनोद सूर्यवंशी (20) ग्राम कलखेड़ा रातीबड़ में रहता है और होटलों में वेटर लगाने का काम करता है। उसके बड़े भाई देवनारायण सूर्यवंशी मिस्त्री का काम करते हैं। देवनारायण ने बताया कि इन दिनों वे गांव में ही एक प्लाट पर बन रहे मकान पर देर रात तक काम करते हैं। शुक्रवार की रात करीब 11 बजे तक वे घर नहीं पहुंचे तो छोटा भाई विनोद उन्हें देखने के लिए निमार्णाधीन मकान पर आ रहा था, तभी रास्ते में जसवंत और दिनेश जो फुलकी का ठेला लगाते हैं ने उसे लाइट सुधारने का कहकर अपने घर पर बुला लिया। वह जैसे ही उनके घर पहुंचा तो दोनों ने उसके साथ जमकर मारपीट की और वीडियो बनाया। वे उसे चोर साबित करने पर तुले हुए थे। जसंवत और दिनेश का मोहल्ले में रहने वाले गुप्ता परिवार के दो लोगों से विवाद चल रहा है, वे उनके नाम लेकर उन्हें भी फं साने की बात कह रहे थे। आरोपियों का कहना था कि जब विनोद को पुलिस पकडऩे आए तो वह यह बताए की गुप्ता परिवार के लोगों ने उसे जसवंत की हत्या करने 1.20 लाख रूपए की सुपारी लेकर भेजा था। इसी नियत से वह उनके घर में चाकू लेकर घुसा था। जहां सबको सोता देख उसने चोरी कर ली थी। 

– खुद फैंका पेटी का सामान

आरोपियों ने घर में चोरी की वारदात दिखाने के लिए प्लानिंग की, घर में रखी पेटी के कपड़े बिखरा दिये और कुछ रुपये जेब में डालते हुए वीडियो बनाते हुए फरियादी को चोर साबित करने का प्रयास किया। विनोद का कहना है कि चोरी कबूल कराने के लिए पहले उसे बेल्ट से जमकर पीटा गया था। इसके बाद में गले पर चाकू रख दिया गया। जिससे वह घबरा गया। जब वीडियो बनाई गई तब उसने चोरी करने की बात वीडियो में स्वीकार कर ली। आरोपी उसे रात 11:30 बजे से सुबह करीब साढ़े चार बजे तक बेरहमी से पीटते रहे थे। जिससे उसे पूरे शरीर पर गंभीर चोटे आई हैं, शरीर के कई हिस्सों पर आरोपियों ने चाकू से कट भी लगा दिए हैं।

– सुबह साढ़े 6 बजे परिजनों को मिली घटना की जानकारी

शनिवार तड़के जसवंत और दिनेश ने पुलिस को बुलाया विनोद को सौंप दिया एवं पुलिस को बताया कि चोरी के लिए घर के अंदर घुसा था, इसलिए उन्होंने उसे दबोच लिया। पुलिस दोनों की बात मानकर विनोद को पकड़कर थाने लेकर चली गई। देवनारायण ने बताया कि विनोद कई बार होटल अथवा मामा के घर पर रुक जाता था, इसलिए उन्होंने रात में उसकी चिंता नहीं की। शनिवार की सुबह गांव वालों ने बताया कि तु हारे भाई को पुलिस लेकर गई है, तो वे लोगों को लेकर थाने पहुंचे। भाई से बात की उसने पूरी घटना बताई। गांव वालों ने भी विनोद का ही साथ दिया, जिसके बाद पुलिस ने उसका मेडिकल कराया और एफआईआर दर्ज कर ली। आरोपियों की अभी गिर तारी नहीं की जा सकी है।