shivraj-attack-on-cm-kamalnath-and-congress-government

भोपाल| मध्य प्रदेश सहित कई राज्यों में आंधी-तूफ़ान और बारिश ने तबाही मचाई है, लेकिन प्रदेश की सियासत में इससे भू���ाल आ गया है| प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पहले गुजरात के लिए मुआवजे की घोषणा की| जिसके बाद मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट कर कह दिया कि आप पूरे देश के पीएम हैं और मध्य प्रदेश में लोग बसते हैं| इसके बाद मध्य प्रदेश के लिए भी पीएमओ द्वारा मुआवजे का ऐलान किया गया| प्राकृतिक आपदा पर मुआवजे को लेकर गरमाई सियासत में अब पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी कमलनाथ पर तीखा पलटवार करते हुए संकट के समय राजनीति करने की बजाय पीड़ितों के बीच जाने की नसीहत दी है| 

पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कमलनाथ क्या यह नहीं जानते कि प्राकृतिक आपदा पर केंद्र से मदद लेने के लिए राज्य सरकार से किसी को बात करनी होती है| जब मैं मुख्यमंत्री था तो ऐसे संकट के समय केंद्र का मुँह नहीं देखता था, तत्काल घोषणा करता था और फिर पीड़ितों के बीच पहुँचता था| लेकिन प्रदेश में लगातार प्राकृतिक आपदाओं से पीड़ित किसानों के बीच सरकार नहीं पहुंच रही है| सिर्फ इटारसी-होशंगाबाद में हुए अग्निकांड के अलावा किसी भी क्षेत्र में मुख्यमंत्री कमलनाथ किसानों के बीच नहीं पहुंचे| शिवराज ने हमला बोलते हुए कहा प्राकृतिक आपदा से किसानों की फसलों को नुकसान हुआ है, कइयों की जान भी चली गई और कमलनाथ राजनीति कर रहे हैं, यह घटिया मानसिकता है| 

कमलनाथ ने क्यों नहीं भेजी सूची 

पूर्व सीएम शिवराज ने कहा कि कमलनाथ से सवाल है कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के लिए कांग्रेस सरकार ने सूची क्यों नहीं भेजी| सिर्फ इसलिए कि इस योजना का श्रेय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को न मिल जाए| इसलिए यह सूची रोक ली| इससे तो किसानों को फायदा होता कांग्रेस सरकार का क्या जाता| लेकिन किसानों के साथ धोखा कांग्रेस सरकार ने किया है|   

मुआवजे का ऐलान 

देश के कई राज्यों में बेमौसम हुई बारिश, तूफान आने और बिजली गिरने के चलते जान-माल का काफी नुकसान हुआ है| तीन राज्यों मध्य प्रदेश , राजस्थान और गुजरात में 30 से ज्यादा लोगों की मौत हुई है|  वहीं  मौसम विभाग ने चेतावनी दी है कि अगले 24 घंटे में फिर आंधी और बारिश हो सकती है| मध्य प्रदेश में आंधी तूफ़ान से अलग अलग हादसों में अब तक 16 लोगों की मौत हो चुकी है| पीएमओ ने ऐलान किया है कि जिन लोगों की आंधी-तूफान के कारण मौत हुई है, उन सभी के परिवारों को दो लाख का मुआवजा और जो लोग घायल हुए हैं उन सभी को 50 हजार रुपये की मदद की जाएगी|