भोपाल| मंत्रिमंडल विस्तार (Cabinet expansion) की अटकलों के बीच मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) दिल्ली (Delhi) पहुँच गए हैं| प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा (VD Sharma) और प्रदेश संगठन महामंत्री सुहास भगत भी उनके साथ दिल्ली रवाना हुए हैं| दिल्ली में सीएम की केंद्रीय नेतृत्व से चर्चा होगी| बताया जा रहा है कि सीएम अपने साथ सूची लेकर गए हैं| वरिष्ठ नेताओं से चर्चा के बाद नए मंत्रियों के नामों पर मुहर लग जायेगी| दिल्ली से लौटने के बाद मंत्रिमंडल विस्तार हो सकता है|

दिल्ली में सीएम शिवराज, पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और केंद्रीय संगठन के नेताओं से अलग-अलग मुलाकात करेंगे| तीन माह से ज्यादा पुरानी सरकार के मंत्रिमंडल में इस बार सिंधिया खेमे के 9 और समर्थकों को शामिल किया जा सकता है| वहीं कुछ नामों पर असमंजस है, जिसका निर्णय हाई कमान करेगा| दिल्ली में सीएम चौहान दो दिन रुकेंगे और इसके बाद भोपाल लौटेंगे।

शिवराज कैबिनेट में कुछ नए चेहरों को भी शामिल किया जा सकता है, जिनका नाम अभी चर्चा में नहीं है| वहीं सिंधिया खेमे से 9 और मंत्री बनाये जा सकते हैं| इनमे इमरती देवी, बिसाहूलाल सिंह, रणवीर सिंह जाटव, प्रद्युम्न सिंह तोमर, महेंद्र सिंह सिसोदिया, प्रभु राम चौधरी, एन्दल सिंह कंसाना और राजवर्धन सिंह दत्तीगांव शामिल है । सूत्रों के मुताबिक इसके अलावा बीजेपी के भी कुल 19 विधायकों की सूची तैयार की गई है जिन्हें मंत्रिमंडल विस्तार में स्थान दिया जाना प्रस्तावित है।

ऑपरेशन लोटस में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले अरविंद सिंह भदोरिया, संजय पाठक और महेंद्र यादव का भी मंत्रिमंडल में शामिल किया जा सकता है| इसके साथ-साथ भूपेंद्र सिंह को भी एक बार फिर मंत्रिमंडल में स्थान मिल सकता है और उनके साथ गोपाल भार्गव भी स्थान पा सकते हैं। नये चेहरो मे यशापाल सिसोदिया और चेतन कश्यप सहित रामेश्वर शर्मा का नाम प्रमुखता से लिया जा रहा है। हालांकि अंतिम रूप से सूची पर मोहर आलाकमान से विचार-विमर्श के बाद ही लगेगी और उसके बाद इस बात की भी व्यापक संभावना है कि मंगलवार को मंत्रिमंडल की शपथ हो जाए।

दावेदारों को इन्तजार
दरअसल, प्रदेश में चौथी बार सरकार बनाए जाने के बाद तीन महीने से ज्यादा का समय बीत गया है, लेकिन मंत्री बनने की उम्मीद लगाए बैठे नेताओं का इन्तजार अभी ख़त्म नहीं हो पाया है| शिवराज पांच मंत्रियों को शपथ दिला चुके हैं, लेकिन अब अपनी टीम में शिवराज बड़ा विस्तार करने वाले हैं। हाल ही में मुख्यमंत्री चौहान ने कहा था कि प्रदेश में मंत्रिमंडल का विस्तार जल्द कर लिया जाएगा। इसके लिए हमारी तरफ से तैयारी पूरी कर ली गई है। केंद्रीय नेतृत्व से चर्चा होनी है। तब से ही दावेदारों की नजर शिवराज के दिल्ली दौरे पर टिकी है| प्रदेश के नेताओं से कैबिनेट विस्तार को लेकर मंथन हो चुका है। बताया जा रहा है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा और संगठन मंत्री सुहास भगत के साथ मिलकर मंत्रिमंडल में शामिल किए जाने वाले संभावित भाजपा विधायकों और ज्योतिरादित्य सिंधिया समर्थकों के नाम तय कर लिए हैं। अब दिल्ली से हरी झंडी मिलते ही विस्तार पर मुहर लग