हेराफेरी कर अवैध वसूली करने वाले तीन एम्स कर्मचारी गिरफ्तार

भोपाल। एम्स में ओपीडी की पर्चे के नाम पर अधिक राशि वसूलने के मामले में पुलिस ने तीन नामजद आरोपियों पर प्रकरण दर्ज कर गिरफ् तार कर लिया है। आरोपियों को न्यायालय में पेश कर रिमांड पर लिया जाएगा। जिससे उनसे और अधिक पूछताछ की जा सके। पुलिस को मामले में अस्पताल के उपरी अधिकारियों तक हिस्सा पहुंचने का संदेह है। थाना प्रभारी शैलेंद्र शर्मा ने बताया कि ए स भोपाल की जांच कमेटी में डॉक्टर अरनीत अरोरा के नेतृत्व में डिप्टी डायरेक्टर श्रमदीप सिन्हा, एंव रजिस्टार बैनी अब्राहम, वरिष्ट प्रशासनिक अधिकारी विशाल कुमार गुप्ता की कमेटी गठित की गई थी। समिति ने ए स की ओपीडी शाखा में मरीजों के पर्चे बनाते समय शुल्क के लेनदेन में हेराफेरी कर धोकाधड़ी करने वाले तीन कर्मचारियों का रिकॉर्ड खंगाला था। कमेटी की जांच में यह बात सामने आई कि जो पैसा भारत सरकार के स्वस्थ मंत्रालय के खाते में जमा होना था उससे अधिक की राशी मरीजों से वसूल कर ली गई है। उक्त मामले में कमेटी ने जांच रिपोर्ट बागसेवनिया पुलिस को सौंपी थी। पुलिस ने उक्त मामले में सुशील कुमार द्विवेदी, दिव्याशु गुप्ता और जितेन्द्र राठौर पर धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है। तीनों को गिरफ्तार कर लिया है।