झूठ बोलकर सेना के मेजर से शादी करने वाली महिला अधिकारी का तबादला

transfer-of-woman-officer-who-trapping-army-major-indore-madhypradesh

इंदौर।

मध्यप्रदेश के इंदौर शहर में सेना के मेजर को कथित रूप से फंसा कर शादी रचाने के मामले में नया मोड़ आ गया है। इस मामले में महिला अधिकारी के खिलाफ  महिला एवं बाल विकास विभाग ने कार्रवाई की है। विभाग ने परियोजना अधिकारी का तबादला कर उसे  बदनावर तहसील भेज दिया है। बताया जा रहा है कि आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं की शिकायत के बाद यह कार्रवाई की गई है।हालांकि इस संबध में मेजर ने भी शिकायत की थी।अधिकारी पर आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं पर भी धमकाने के आरोप है।

दरअसल, बीते साल सेना के मेजर ने पुलिस से शिकायत की थी कि महिला अधिकारी ने खुद की कम उम्र और कुंवारी बताकर उससे शादी की। जबकि वह इंदौर में ही एक पुलिस अधिकारी की पत्नी है। इस मामले में महिला बाल विकास विभाग को भी शिकायत की गई थी।  मामला जब सार्वजनिक होने पर जांच शुरू की गई।इस दौरान  महिला अधिकारी ने क्षेत्र की सुपर वाइजर और आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को धमकाया और पक्ष में बयान देने के लिए दबाव बनाया। महिला अधिकारी ने कहा था कि मुझे अधिकारी नहीं दीदी बताना। तुमको सिर्फ यह कहना है कि दीदी अच्छी हैं। हमारे इनसे पारिवारिक संबंध हैं।साथ ही उन्होंने बताया था कि  एक आदमी उन्हें ब्लैकमेल कर रहा है। हमें बार-बार फोन कर धमकाया जा रहा है कि मेरे हक में बयान देना।मानसिक रूप से परेशान किया जा रहा है। नौकरी से निकालने की धमकी भी दी जा रही है।  आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं ने इसकी लिखित शिकायत संभागीय संयुक्त संचालक कार्यालय को कर दी। इसके बाद तीन सदस्यीय समिति द्वारा जांच करवाई गई थी। जांच समिति की रिपोर्ट के बाद महिला अधिकारी पर कार्रवाई करते हुए तुरंत महिला अधिकारी को बदनावर परियोजना स्थानांतरित कर दिया गया है।  

शनिवार को मामले की जांच के बाद  महिला एवं बाल विकास विभाग ने महिला अधिकारी पर कार्रवाई कर दी है। फिलहाल परियोजना अधिकारी का तबादला किया गया है। इंदौर जिले से धार जिले के बदनावर तहसील भेजा गया है। मेजर द्वारा की गई शिकायत के बाद महिला अधिकारी ने भी यौन उत्पीड़न की शिकायत पुलिस में की थी।बताया जा रहा है कि महिला अधिकारी बीते दस साल से भी ज्यादा समय से इंदौर में जमी हुई थी औऱ मेजर को ब्लैकमेल कर रही थी।