सरकारी स्कूल की उपप्राचार्य छात्राओं पर विषय बदलने के लिए बनाती थी दबाव

एनएसयूआई ने छात्राओं की मांग को लेकर किया प्रदर्शन...

भोपाल,रवि नाथानी। एक तरफ प्रदेश की सरकार छात्राओं को अच्छी शिक्षा देकर उच्च पदों पर बिठाना चाहती है इसके लिए स्कॉलरशिप भी सरकार की तरफ से दी जाती है। वहीं राजधानी भोपाल (bhopal) के व्यापारिक नगर के शासकीय स्कूल की उपप्राचार्य छात्राओं पर दबाव बनाकर यह कहती है कि अंग्रेजी विषय न लेकर ब्यूटी लो। इस पर एनएसयूआई के पदाधिकारियों ने प्रदर्शन किया और स्कूल की उपप्राचार्य की शिकायत उच्च अधिकारियों से की है। एनएसयूआई के पदाधिकारियों का कहना है कि अगर मांग पूरी नहीं हुई तो शिक्षामंत्री का पुतला दहन किया जायेगा।

यह भी पढ़े…यहां पढ़िए 1 अगस्त की मध्य प्रदेश की सभी बड़ी खबरें, केवल एक क्लिक पर

गर्ल्स स्कूल की छात्राओं ने बताया कि स्कूल की उपप्राचार्य मेंन सब्जेक्ट अंग्रेजी का हटाकर ब्यूटी सब्जेक्ट लेने का दबाव बनाती है, इससे कई छात्राओं का भविष्य खराब हो सकता है जबकि अंग्रेजी सब्जेक्ट तो जरूरी है, छात्राओं को गुमराह किया जा रहा है। विद्यालय की छात्राओं ने उप प्राचार्य आसिफा खान पर आरोप लगाया कि विद्यालय में कक्षा 11वीं और 12वीं की छात्राओं को जबरदस्ती विषय बदलने का दबाव बनाया जा रहा है, अंग्रेजी विषय को हटाकर ब्यूटी विषय लेने का दबाव बना रहे है, 12वी की छात्राओं ने बताया कि सब्जेक्ट विषय के कारण हमें कॉलेज में एडमिशन नहीं मिल पाएगा। इसी को लेकर विद्यालय की छात्राओं ने विद्यालय परिसर में हंगामा किया था।

सरकारी स्कूल की उपप्राचार्य छात्राओं पर विषय बदलने के लिए बनाती थी दबाव

एनएसयूआई ने किया प्रदर्शन
इधर इस मामले को लेकर एनएसयूआई ने सोमवार को स्कूल प्रबंधन और उप प्राचार्य की मनमानी को लेकर प्रदर्शन किया। एनएसयूआई हुजूर विधानसभा अध्यक्ष सोहन मेवाड़ा के नेतृत्व में यह प्रदर्शन किया गया। उन्होने बताया कि छात्राओं को विषय के नाम पर गुमराह कर जबरदस्ती धमकाया जा रहा है, वहीं 4 साल से छात्रवृत्ति नही मिली, फीस के नाम पर 2000 लिए जाते है लेकिन रसीद नही देते।

यह भी पढ़े…5G स्पेक्ट्रम कि नीलामी हुई खत्म, JIO रहा टॉप पर, देश में 5जी आने से होंगे ये बदलाव, जानें कितनी होगी कीमत

मेवाड़ा ने बताया कि पिछले वर्ष जिन छात्राओं ने 12वी पास की उन्हें इंग्लिश के विषय मे विद्यालय द्वारा प्रेक्टिकल/ इंटरनल में फेल कर दिया गया,जिससे उन्हें कॉलेज में प्रवेश नही मिल रहा, इस मामले में प्राचार्य से बात की तो उन्होंने बताया कि पूर्व प्राचार्य ने फेल किया है जिला शिक्षा अधिकारी ने हमें आश्वासन दिया है कि जल्द से जल्द इस मामले को जांच कर समाधान किया जाएगा।

एनएसयूआई का कहना है कि छात्राओं की समस्याओं का समाधान नहीं हुआ तो एनएसयूआई द्वारा उच्च शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार का पुतला दहन किया जाएगा। प्रदर्शन में क्षेत्रीय पार्षद अशोक मारण ने बताया कि इस मामले को लेकर जिला शिक्षा अधिकारी नितिन सक्सेना से बात की है उन्होंने कहा विद्यालय द्वारा जो गलती हुई है उसकी जांच के लिए 3 लोगो की टीम बनाई है जल्द ही निराकरण करवाएंगे।