क्‍या राजगढ मजार पर राहुल गांधी की अनुमति से लगा था उर्स मेला : रामेश्वर शर्मा

भोपाल| कोरोना संकट के बीच प्रदेश में वार पलटवार का दौर भी जारी है| विधायक एवं भाजपा के प्रदेश उपाध्‍यक्ष रामेश्‍वर शर्मा ने पूर्व मंत्री पी सी शर्मा के बयान पर पलटवार करते हुये जोरदार हमला बोला है। विधायक रामेश्‍वर ने कहा कि कमलनाथ जी रोज नये झूठ बोलते है यदि मुख्‍यमंत्री रहते उन्‍होने कुछ किया होता तो आज प्रदेश कोरोना संक्रमण से नहीं जूझ रहा होता।

बीजेपी विधायक ने कहा कि सम्‍पूर्ण भारत वर्ष में हर्षोलास से मनाये जाने वाला पर्व होली को पूरे देश ने 10 मार्च को अपने अपने घरों मे रहकर मनाया। लेकिन 10 से 18 मार्च को राजगढ की मजार पर उर्स मेले का आयोजन किया गया। जिसमें पूरे देश भर के लाखों जमाती शामिल हुये। राजगढ की मजार पर उर्स मेले का आयोजन किसकी अनुमति से किया गया। क्‍या राहुल गॉधी ने उर्स मेले के लिये विशेष अनुमति देने का निर्देश कमलनाथ जी को दिया था । कमलनाथ जी की यह सोच जमातीयों से बिल्‍कुल मिलती जुलती है जो कहते है कि वह अल्‍लाह के बंदे है उन्‍हे कोरोना नहीं होगा।

…तो स्‍वास्‍थय कर्मीयो पर ईट नहीं गोलियां चलती
पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ पर बड़ा हमला बोलते हुए रामेश्‍वर शर्मा ने कहा कि मध्‍यप्रदेशवासीयों पर बाबा महाकाल की कृपा है, कि समय रहते कांग्रेस सरकार चली गयी नही तो इन्‍दौर में स्वास्थ्य कर्मीयों पर ईटे नही गोलियां चलती ओर कार्यवाही की जगह दिग्विजय सिंह उन्हें अपने हाथो से बिरयानी खिलाने जाते।

तबादले कर सकते थे पर कोरोना को लेकर बैठक नही
विधायक ने कहा कि कोरोना वायरस को लेकर कमलनाथ जी कितने गंभीर थे उसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि उन्‍होने प्राइवेट छोडिये शासकीय अस्‍पतालों में कोरोना अलर्ट नही किया । तुलसी सिलावट ने 10 मार्च को इस्‍तीफा दिया 14 मार्च को स्‍वीकार कर लिया गया इस दौरान स्‍वास्‍थ्‍य विभाग के तबादले किसने किये ? तबादले कर सकते थे पर कोरोना को लेकर बैठक नही क्‍या यह हास्‍यास्‍पद नही?

घर बैठकर रामायण देखें कांग्रेसी आएगी सद्बुद्धि
विधायक रामेश्‍वर शर्मा ने कहा कि प्रदेश एवं देश कोरोना संकट से गुजर रहा है। इस संकट की घडी में यदि काग्रेंस नेता पीडित मानवता की मदद नही कर सकते तो कम से कम घर बैठकर रामायण का प्रसारण देखे । शायद सद्बुद्धि आ जाये ।