आर्थिक तंगी हुई तो मेडिकल स्टोर संचालक घर में छापने लगा नकली नोट

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। भोपाल क्राइम ब्रांच ने नकली नोट छापने वाले राजगढ़ के मेडिकल स्टोर संचालक और उसके साथी को गिरफ्तार किया है। मेडिकल स्टोर संचालक ने उधारी, आर्थिक तंगी के चलते आरोपी ने घर में ही नकली नोट छापने शुरू कर दिए थे, पुलिस ने उसके पास से 2-2 सौ के 300 नग नकली नोट और 5-5 सौ के 294 नग नकली नोट बरामद किये है। मुखबिर से मिली सूचना के बाद पुलिस ने लाम्बा खेड़ा ब्रिज के पास स्थित एक मैरिज गार्डन के सामने से इन दोनों युवकों को हिरासत में लिया, दोनो नकली नोट खपाने के लिए खड़े थे, आरोपियों की पहचान राजगढ़ के भूपेंद्र यादव और सोनू विश्वकर्मा के रूप में हुई है।पुलिस ने दोनों के पास से 2 लाख 7 हजार के नकली नोट बरामद किए है।

यह भी पढ़े.. BWF World Championships 2021: सिल्वर जीतने वाले पहले भारतीय बने किदांबी श्रीकांत

पकड़े गए युवकों में से एक भूपेंद्र मेडिकल स्टोर चलाता है, उसने पूछताछ में बताया कि स्टोर में उधारी बढ़ने और आर्थिक स्थिति खराब होने के कारण वह नकली नोट छापने लगा, आरोपी भूपेंद्र जहां 12 वीं तक पढ़ा है, वही सोनू आठवी पास है। आरोपियों ने पुलिस को बताया कि घर पर ही असली नोट को स्कैन कर नकली नोट छापते थे, भूपेंद्र नोट छापने के बाद सोनू को नोट बाजार में खपाने के लिए देता था, सोनू ड्राइवर का काम करता है, पुलिस दोनों से पूछताछ कर रही है।