शिव ‘राज’ में अवैध खनन को लेकर प्रशासन पर कौन बना रहा दबाव

भोपाल। इंदौर (Indore) में अवैध खनन की कार्रवाई करने गई टीम पर कमलनाथ सरकार में मंत्री रहे और कांग्रेस विधायक जीतू पटवारी (Congress MLA Jeetu Patwari) के रिश्तेदारों द्वारा हमले करने के मामले में सियासत गर्मा गई है। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ. अरविन्द भदौरिया (State Vice President of Bharatiya Janata Party, Dr. Arvind Bhadoria) ने पूर्व मंत्री पर जमकर हमला बोला है।भदौरिया का कहना है कि अब उनके रिश्तेदार अवैध खनन को लेकर अधिकारियों पर दबाव बना रहे हैं। प्रदेश में 15 माह में कमलनाथ सरकार के मंत्री, विधायक और उनके रिश्तेदार दिन-रात अवैध खनन में लगे हुए थे। कांग्रेस सरकार का पूरा ध्यान अवैध उत्खनन एवं भ्रष्टाचार पर रहा। कांग्रेस ने मध्यप्रदेश को खनन प्रदेश बना दिया था।लेकिन अब अवैध खनन करने वालों पर कठोर कार्रवाई होगी।

भदौरिया ने आगे कहा कि शुक्रवार को इंदौर पुलिस को ट्रुबा कॉलेज के पास चिनार हिल्स पर अवैध उत्खनन की शिकायत मिली थी। मौके पर खनिज विभाग की टीम पुलिस के साथ पहुंची तो वहां पर जेसीबी और डंपर से अवैध कारोबार को अंजाम दिया जा रहा था। पुलिस और खनिज अधिकारी जब गाड़ियां जब्त कर थाने लौट रहे थे तभी पूर्व मंत्री जीतू पटवारी के रिश्तदार चेतन और कुणाल ने साथियो के साथ मिलकर खनिज विभाग की टीम पुलिस और एसडीएम का रास्ता रोककर उनकी गाड़ियों पर पथराव कर दिया। पुलिस ने आरोपियों पर एफआईआर दर्ज कर ली है।जिस तरीके से अधिकारियों को जान से मारने की कोशिश की उससे पता चलता है कि कांग्रेस के लोग कमलनाथ सरकार में किस कदर से अवैध खनन में लगे हुए थे। अब कांग्रेस नेताओं को समझ लेना चाहिए कि प्रदेश में कमलनाथ सरकार नही है, अवैध खनन करने वालों को बख्शा नही जाएगा। उन पर कठोरतम कार्रवाई होगी।

डॉ. अरविन्द भदौरिया ने घटना की निंदा करते हुए कहा कि इंदौर की यह घटना कांग्रेस सरकार के 15 माह के चरित्र को दर्शाती है। कमलनाथ सरकार में जो अवैध खनन पर कार्यवाही को लेकर बड़ी-बड़ी बातें करते थे, अब उनके रिश्तेदार अवैध खनन को लेकर अधिकारियों पर दबाव बना रहे हैं। कमलनाथ सरकार के मंत्री, विधायक और उनके रिश्तेदार दिन-रात अवैध खनन में लगे हुए थे। उन्होंने कहा कि प्रदेश में 15 माह में कमलनाथ कांग्रेस सरकार का पूरा ध्यान अवैध उत्खनन एवं भ्रष्टाचार पर रहा। तत्कालीन मुख्यमंत्री कमलनाथ और उनके चहेते मंत्री कमाई करने में लगे हुए थे। कांग्रेस ने मध्यप्रदेश को खनन प्रदेश बना दिया था।

घटना के बाद अधिकारी का तबादला
इस पूरे घटनाक्रम के बाद अवैध उत्खनन मामले में लापरवाही करने वाले जिला खनिज अधिकारी प्रदीप खन्ना का ट्रांसफर कर दिया गया है। प्रदीप खन्ना को अब श्योपुर जिले का कार्यभार सौंपा गया है। मध्य प्रदेश शासन की तरफ से खन्ना पर यह कार्रवाई खनिज उत्खनन मामले में लापरवाही बरतने की वजह से लिया गया है।