छतरपुर : घर में घुसकर गर्भवती महिला से मारपीट, मामला दर्ज होने के बाद भी घर छोड़कर भागा परिवार

छतरपुर जिले के ग्राम बन्दरगढ़ में कुछ दबंगों ने घर मे घुसकर गर्भवती महिला और बूढ़ी सास के साथ मारपीट की। पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपियों तलाश शुरू कर दी है।

छतरपुर, संजय अवस्थी। जिले में दलित को मजदूरी के लिए दबंगों को मना के करना भारी पड़ गया। गुस्साए दबंगों ने पीड़ित के घर में घुसकर गर्भवती महिला सहित सास के साथ बच्चों के सामने ही जमकर मारपीट कर दी। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। वहीं दबंगों के डर से पीड़ित परिवार घर छोड़कर कहीं चला गया है।

यह भी पढ़ें:-शादी के मंडप में दूल्हे पर एसिड अटैक, दुल्हन के प्रेमी ने उठाया खतरनाक कदम

छतरपुर जिले के राजनगर थानांतर्गत ग्राम बन्दरगढ़ में दलित गर्भवती महिला से उसके पति की गैरमौजूदगी में उसके और उसकी बूढ़ी सास के साथ मारपीट की गई। इसके बाद पुलिस में रिपोर्ट करने से रोका, बाद में जैसे तैसे पीड़ित परिवार ने पुलिस को खबर दी और मामला पुलिस के संज्ञान में आया तो राजनगर थाना प्रभारी द्वारा गांव में पुलिस भेजकर पीड़ित महिला को थाने लेकर आया गया। पीड़ित महिला की रिपोर्ट पर हरिजन एक्ट सहित घर में घुसकर मारपीट करने और पुलिस में रिपोर्ट करने से रोकने को लेकर कई धाराओं में मामला दर्ज कर लिया गया है।

यह है पूरा मामला

पुलिस ने बताया कि पीड़ित दलित महिला का पति गांव में ही मजदूरी करता है। जिसको आरोपियों ने अपने यहां काम करने को कहा, जब वह मजदूरी करने नहीं गया तो दबंगों ने उसको इसका अंजाम भुगताने की धमकी का ऐलान करते हुए अब गांव में आगे मजदूरी नहीं करने देने का फरमान सुनाया और उसे मारने के लिए ढूढ़ने लगे। इसकी जानकारी लगने पर मजदूर डर के मारे कहीं छुप गया तो आरोपी उसके घर पहुंच गए और उसकी गर्भवती पत्नी को उसके छोटे-छोटे बच्चों के सामने ही मारपीट कर दी। मौके पर मौजूद पीड़ित महिला की बुजुर्ग सास ने मारपीट से रोका तो आरोपियों ने उसे भी मारा। पुलिस को रिपोर्ट न करने की धमकी दी साथ ही महिला के घर से बाहर न निकलने देने को लेकर पहरा बिठा दिया।

गांव में दहशत, घर छोड़कर भागा परिवार

इस वारदात के बाद से पीड़ित दलित परिवार सहित गांव में दहशत का माहौल है। गांव का कोई भी व्यक्ति कुछ भी कहने या बताने की तो दूर रुकने को भी तैयार नहीं है। पीड़ित महिला के घर के सामने रहने वाले बंदिया अहिरवार ने बताया कि पीड़ित परिवार तीन दिनों से घर पर नहीं है, वे ताला लगाकर भाग गए। जिससे समझा जा सकता है कि पुलिस में रिपोर्ट होने के बाद पीड़ित परिवार डर के कारण घर छोड़कर कहीं भाग गया होगा। वहीं वारदात को अंजाम देने वाले सभी आरोपी फरार बताए जा रहे हैं। जिनकी पुलिस तलाश कर रही है।