छिंदवाड़ा, विनय जोशी। छिंदवाड़ा (Chhindwara) जिले में आशा-ऊषा (​Asha Usha Workers) और सहयोगी कार्यकर्ताओं द्वारा अनूठा प्रदर्शन किया गया। जहां सभी कार्यकर्ताओं ने भीख मांग कर आंदोलन को एक नया रूप दिया। आशा-ऊषा कार्यकर्ताओं का कहना है की भीख मांग कर पैसा एकत्रित कर उस पैसे को मध्यप्रदेश शासन की मदद के लिए अपने भैया सीएम शिवराज (CM Shivraj) को भेजेंगे।

यह भी पढ़ें…Alirajpur : बढ़ते पेट्रोल डीजल के दामों को लेकर कांग्रेस का विरोध, हाथ ठेले पर मोटरसाइकिल की निकाली अर्थी 

गौरतलब है कि लंबे समय से आशा-ऊषा और सहयोगी कार्यकर्ता अपनी मांगों को लेकर पूरे मध्यप्रदेश में प्रदर्शन कर रही हैं। जिसके चलते कहीं परमानेंट नहीं करने पर आत्महत्या की धमकी दी जाती है तो कहीं जमकर नारेबाजी की जाती है। ऐसा ही कुछ अनोखा प्रदर्शन छिंदवाड़ा में हुआ। आशा-ऊषा एवं सहयोगी कार्यकर्ताओं का मानना है कि सीएम शिवराज के पास उन्हें देने के लिए पैसे नहीं है। इसलिए अब वह खुद उन्हें भीख मांग कर उनकी मदद के लिए पैसे पहुंचाएंगे और इसी मंशा के साथ छिंदवाड़ा में आशा कार्यकर्ताओं ने भीख मांगो आंदोलन किया जिसमें उन्होंने जनता पुलिस एवं अधिकारियों से भी भीख मांगी।

आशा ऊषा कार्यकर्ता संघ की जिला अध्यक्ष उर्मिला भादे का कहना है कि सूबे के मुखिया मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान न केवल मध्य प्रदेश बल्कि पूरे देश में मामा शिवराज सिंह चौहान के नाम से जाने जाते हैं। और उनकी पदवी (मामा) की वजह से वे काफी लोकप्रिय भी हुए हैं। लेकिन आज मामा की बहनों ने ही भाई के खिलाफ त्रस्त होकर मोर्चा खोल दिया है। दरअसल आशा-ऊषा और सहयोगी कार्यकर्ताओं द्वारा बीते लंबे समय से वेतन वृद्धि सहित अन्य 6 सूत्री मांगो का आवेदन निवेदन किया जाता रहा है। लेकिन लगातार 45 दिनों से आंदोलन कर रहीं कार्यकर्ताओं की मांग की ओर शासन के तरफ से उन्हें कोई राहत नहीं दी जा रही थी। जिससे परेशान आशा-ऊषा और सहयोगी कार्यकर्ताओं ने आज गुलाबी गैंग के सहयोग से, लामबंद होकर अपने भैया सीएम शिवराज के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। महिलाओं के एक बड़े ग्रुप ने शहर में भीख मांगो आंदोलन किया। सभी लोग भीख मांगते हुए कलेक्ट्रेट पहुंचे, जहां उन्होंने भीख में इकट्ठा हुआ पैसा और अपनी मांगों का ज्ञापन दिया। लेकिन अधिकारी ने ज्ञापन लिया मगर पैसा नहीं लिया।

यह भी पढ़ें…IAS Transfer: मध्य प्रदेश में आईएएस अधिकारियों के थोकबंद तबादलें, यहां देखें लिस्ट

इधर, गुलाबी गैंग चीफ़ पूर्णिमा वर्मा के सहयोग से आशा-ऊषा कार्यकर्ताओं ने भीख में 2215 रुपए, 2 आम, एक केला और ORS के पाउच सहित दो कुरकुरे के पैकेट सीएम शिवराज सिंह चौहान के नाम दिया गया । आशा-ऊषा कार्यकर्ताओं के इस अनोखे भीख मांगो आंदोलन में गुलाबी गैंग ने उनके साथ कंधा से कंधा मिलाकर लड़ने की बात की ।