दुष्कर्म की शिकायत करने आई नाबालिग ने थाने में दिया बच्चे को जन्म, छिंदवाड़ा के कुंडीपुरा का मामला

थाने में मौजूद महिला टीआई ने स्टाफ के साथ मिलकर थाने में कराया रेप पीड़िता का प्रसव, जच्चा-बच्चा दोनों स्वस्थ्य

छिंदवाड़ा, विनय जोशी।  दुष्कर्म की शिकायत करने आई नाबालिग का थाने में ही प्रसव हो गया। यह मामला छिंदवाड़ा जिले के कुंडीपुरा थाने का है। बताया जाता है कि नाबालिग को प्रसव पीड़ा होने पर थाना प्रभारी पूर्वा चौरसिया, एक महिला पुलिसकर्मी व अन्य महिलाओं ने प्रसव करवाया। पुलिस ने पीडि़ता की शिकायत पर आरोपित युवक के खिलाफ दुष्कर्म और पोक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज कर उसे हिरासत में ले लिया है। थाना प्रभारी के मुताबिक पीड़िता नाबालिग है, और शिकायत करने थाने  पहुँची थी, जहाँ उसे प्रसव पीड़ा शुरू हो गई, नाबालिग को  प्रसव पीड़ा होने पर एक महिला कांस्टेबल और परिसर में घरेलू काम करने वाली महिलाओं की मदद से उसकी डिलीवरी करवाई गई। इसके बाद पीडि़ता को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। नाबालिग और उसका बच्चा पूरी तरह स्वस्थ है।

मप्र उपचुनाव को लेकर कमलनाथ का मास्टर प्लान, इस आधार पर तय होंगे प्रत्याशी

पीडि़ता ने शिकायत में बताया  कि उसी के गांव के आकाश युवनाती ने शादी का झांसा देकर उसके साथ दुष्कर्म किया। आरोपित बीते कई महीने से शादी की बात कहकर उसे थाने आने से रोक रहा था। तीन दिन पहले वह शादी से मुकर गया। इसके बाद पीडि़ता बुधवार को थाने पहुंची। गौरतलब है कि नौ मार्च को लवाघोघरी थाने में भी इसी तरह का मामला सामने आया था। उस वक्त महिला कांस्टेबल शीतल वाघमारे ने थाने में प्रसव करवाया था। वहां भी समय पर एंबुलेंस नहीं पहुंच सकी थी। इस बार भी ऐसा ही हुआ।