CM ने खंडवा कलेक्टर को सौंपी भ्रष्ट अधिकारियों की लिस्ट, जीरो टॉलरेंस नीति अपनाने के निर्देश

CM ने खंडवा के भ्रष्ट अधिकारियों की सूची कलेक्टर को दी और जांच कर जीरो टॉलरेंस की नीति अपनाने के निर्देश दिए

mp government

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। आगामी चुनाव से पहले सीएम शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chouhan) का अलग अंदाज देखने को मिल रहा है। आए दिन सीएम सुबह सुबह जिलेवार बैठकें लेकर अधिकारियों और कलेक्टरों को बड़े निर्देश दे रहे है। आज 21 मई शनिवार सुबह सीएम शिवराज सिंह चौहान ने सीएम हाउस से खंडवा  और डिंडौरी जिले के अधिकारियों और कलेक्टरों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से चर्चा की और कई बड़े निर्देश दिए।CM ने खंडवा के भ्रष्ट अधिकारियों की सूची कलेक्टर को दी और जांच कर जीरो टॉलरेंस की नीति अपनाने के निर्देश दिए

यह भी पढ़े.. MP के पूर्व मंत्री के बिगड़े बोल -TI सुन लो, तुम्हारी ऐसी की तैसी कर देंगे, वीडियो वायरल

खंडवा ज़िला प्रशासन को सीएम शिवराज ने अहम निर्देश दिए और जिला कलेक्टर से नवाचार की जानकारी ली। इस दौरान खंडवा कलेक्टर ने बताया कि एक नवाचार के अंतर्गत कुपोषण कम करने के लिए सहजना की पत्तियों के पाउडर को आंगनवाड़ी में बंटवाना शुरू किए है। अभी 65 आंगनवाड़ी से प्रयास शुरू हुआ है जल्द ही इसे पूरे जिले में शुरू करेंगे।  इस प्रयास के परिणाम सकारात्मक आ रहे है। एडॉप्ट एन आंगनवाड़ी के अंतर्गत 1682 आंगनवाड़ी में से 1540 आंगनवाड़ी एडॉप्ट की जा चुकी है

मुख्यमंत्री ने खंडवा कलेक्टर को कुपोषण कम करने के प्रयासों को टास्क के रूप में लेने, सतत मॉनिटरिंग , सीएमओ से आवश्यक मदद लेने और पूरा फ्री हैंड देने के निर्देश दिए।साथ ही कहा कि हर विधानसभा में आवास प्लस के जितने मकान स्वीकृत हुए हैं, उन्हें स्वीकृति पत्र दें और घर-घर मेरी चिट्ठी पहुंचाएं।अलग-अलग निर्माण सामग्री खरीदने में ज्यादा पैसे लगते हैं। हम यदि एक साथ सभी को निर्माण सामग्री दे दें, तो उसमें बचत होगी। अगर कोई इसमें पैसे मांगता है, तो हमें उन्हें निर्मूल करना है। कोई पैसे न खा पाये।

यह भी पढ़े.. निकाय चुनाव: वार्डों का आरक्षण कार्यक्रम जारी, कलेक्टरों को मिले ये निर्देश, जानें कब लगेगी आचार संहिता?

सीएम शिवराज सिंह ने कहा कि खंडवा में पेयजल आपूर्ति की क्या स्थिति है? पानी की सुविधा सुचारू है। मॉनिटरिंग चल रही है।  वही राशन वितरण की कुछ समस्याओं पर सीएम ने नाराजगी प्रकट की और कहा कि राशन से संबंधित कितनी शिकायत हैं? राशन वितरण में गड़बड़ी में कई जिलों ने अच्छी कार्रवाई की है। जो वास्तव में पात्र हैं, उनकी सूची बनाएँ और एनाउंस करवाएं कि जो अपात्र हैं वो अपने नाम खुद वापस ले लें।मेरे पास 270 शिकायत बिजली बिल में गड़बड़ी की हैं। जिनको दिखवा लें।

सीएम ने पूछा कि रोजगार मेले की क्या स्थिति है? (जवाब- कैम्प लगाए जा रहे हैं। प्रोसेस स्मूथ है।)  महिला सेल्फ हेल्प ग्रुप का काम कैसा है। (जवाब- पिछली बार 100% टारगेट पूरा हुआ है। बैंक लिंकेज मिल रहा है)  गौरव दिवस आयोजित हो रहे हैं? (जवाब- प्रस्तावित हैं। जल्दी ही मनाये जाएंगे) सीएम राइज़ स्कूल की क्या स्थिति है? (जावर और हरसूद में शुरू करने वाले हैं) अमृत सरोवर में कितना काम हुआ? ( जवाब- आगामी दिनों में 50% काम पूरा होने जा रहा है। 15 अगस्त तक पूरे 101 तालाबों का काम हो जाएगा।)

दबंगों से जमीन छीनो और गरीब को दे दो।

सीएम ने कहा कि कुछ तालाब लें और उन्हें आइडियल बनाएँ। मनरेगा में क्या काम हो रहा है? (जवाब- जल संरक्षण का काम चल रहा है) मुख्यमंत्री भू-आवासीय अधिकार योजना की क्या स्थिति है। (जवाब 12,952 आवेदन स्वीकृत हो गए हैं, बाकी आवेदनों पर भी काम चल रहा है।) धारणाधिकार योजना में आप एक सूची बनाएँ, फील्ड अफसर बताएँ, जो अव्यवहारिक चीज है, तो व्यवहारिक बनाएंगे। मेरा सीधा फार्मूला है, दबंगों से जमीन छीनो और गरीब को दे दो।

थानों में नियंत्रण है क्या, लोग पैसे तो नहीं मांग रहे?

सीएम ने कहा कि गोकशी की घटनाओं पर तीखी नजर रखें। इसमें किसी को न छोड़ें। (जवाब गोकशी में लिप्त 40 वाहन राजसात हुए हैं।)थानों में नियंत्रण है क्या, लोग पैसे तो नहीं मांग रहे? जरा गहराई में जाओ एसपी साहब। अगर कोई पैसे मांग रहा है तो इसे ठीक करो।लाडली लक्ष्मियों से संपर्क है? (जवाब-हायर स्टडीज़ वाली लड़कियों के लिए करियर काउंसिलिंग करवाई।)छात्रावासों की व्यवस्थाओं पर नजर रखें। करप्शन के मामले में जीरो टॉलरेंस रखें। मेरी तरफ से फ़्री हैंड है, अपराधियों को न छोड़ें।