पूर्व विधायक

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। गुटबाजी के चलते आई सत्ता हाथ से गंवाने वाली कांग्रेस (Congress) ने इससे कोई सबक नहीं सीखा है। पार्टी नेताओं की लगातार ऐसी घटनाएं सामने आती रहती हैं जो स्पष्ट करती हैं कि कांग्रेस (Congress) के अंदरखाने में सबकुछ ठीक नहीं चल रहा। कांग्रेस (Congress) के नेता पार्टी के अंदर ही एक दूसरे के खिलाफ सियासी चालें चलने से नहीं चूकते। ताजा मामला ग्वालियर कांग्रेस (Gwalior Congress) से जुड़ा है जिसमें महिला कांग्रेस (Mahila Congress) के लिए अलग से केबिन की मांग के बाद सियासत तेज हो गई। हंगामे के बाद कांग्रेस कार्यालय में अलग से स्थान नहीं दिए जाने से आहत महिला कांग्रेस अध्यक्ष ने सोनिया गांधी, राहुल गांधी प्रियंका गांधी, मुकुल वासनिक, कमलनाथ और मांडवी चौहान से इसकी शिकायत की है।

शिंदे की छावनी स्थित श्रीमंत माधव राव सिंधिया कांग्रेस भवन (Congress Office) में महिलाओं के बैठने के लिए ना तो अलग से कोई स्थान है और ना ही महिला जिला अध्यक्ष के लिए कोई अलग केबिन। महिला कांग्रेस अध्यक्ष रुचि गुप्ता (Mahila Congress President Ruchi Gupta) एक अलग से स्थान चाहती थी और इसे लेकर ही बवाल हो गया। दरअसल रुचि गुप्ता कांग्रेस कार्यालय (Congress Office) में एक ऐसा अलग स्थान चाहती थी जहाँ महिला शिकायत केंद्र बनाया जा सके, वहां महिला कांग्रेस (Mahila Congress) पदाधिकारी बैठकर शहर की पीड़ित महिलाओं की समस्या सुन सकें। इसके लिए उन्होंने शुक्रवार को एक मीटिंग के दौरान जिला अध्यक्ष डॉ देवेंद्र शर्मा से अनुमति भी ले ली और कहा कि वो अपने खर्चे पर हॉल के कोने में केबिन बना लेंगी।

महिला Congress के लिए केबिन को लेकर घमासान, सोनिया, राहुल, कमलनाथ तक पहुंची शिकायत

महिला कांग्रेस अध्यक्ष रुचि गुप्ता (Mahila Congress President Ruchi Gupta) ने एमपी ब्रेकिंग न्यूज़ से बात करते हुए कहा कि जिला अध्यक्ष डॉ देवेंद्र शर्मा से अनुमति मिलने के बाद शनिवार को सुबह  जैसे ही केबिन बनाने के लिए सामान कांग्रेस कार्यालय पहुंचा तो उन्हें अलग से स्थान दिए जाने से इंकार कर दिया गया। यूथ कांग्रेस , NSUI, ग्रामीण कांग्रेस सब विरोध करने लगे। वे कहने लगे कि हमें भी स्थान चाहिए। उनका कहना है कि कांग्रेस कार्यालय में पुरुष पदाधिकारियों के बैठने के लिए स्थान है लेकिन महिलाओं के बैठने के लिए कोई स्थान नहीं है।  मैने तो कार्यालय में थोड़ा सा स्थान माँगा था लेकिन उसपर भी राजनीति हो गई।

ये भी पढ़ें –  नए शोरूम का उद्घाटन पड़ा भारी, Gwalior में चोरों ने घर को निशाना बनाकर की 10 लाख की चोरी

उधर जिला कांग्रेस अध्यक्ष डॉ देवेंद्र शर्मा ने विवाद जैसी किसी भी स्थिति से इंकार किया है। एमपी ब्रेकिंग न्यूज़ से बात करते हुए कांग्रेस जिला अध्यक्ष ने कहा कि मैंने आधे घंटे के अंदर ही उन्हें मना कर दिया था लेकिन वे फिर भी सामान लेकर आ गई। उनका जो भी खर्चा हुआ तत्काल उन्हें दे दिया गया। कांग्रेस जिला अध्यक्ष ने कहा कि कांग्रेस कार्यालय सभी का है यहाँ कोई भी पदाधिकारी आकर बैठ सकता है, अलग से स्थान की क्या आवश्यकता है।

घटना के बाद अपने साथ हुए व्यवहार से आहत महिला जिला कांग्रेस अध्यक्ष रुचि गुप्ता (Mahila Congress President Ruchi Gupta) ने इसकी शिकायत हाईकमान से की है।  उन्होंने एमपी ब्रेकिंग न्यूज़ को बताया कि उन्होंने इसकी शिकायत राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi), वरिष्ठ नेता राहुल गांधी(Rahul Gandhi), महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi), प्रदेश प्रभारी मुकुल वासनिक (Mukul wasnik), प्रदेश अध्यक्ष कमल नाथ (Kamal nath) और महिला कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष मांडवी चौहान (Mandawi Chauhan )से की है सभी को उन्होंने मेल से शिकायत भेजी है।

ये भी पढ़ें – Gwalior News: मौत के बाद भी सबक नहीं, बेख़ौफ़ बिकती है Illegal liquor, वीडियो वायरल 

बहरहाल देश और प्रदेश में अपने अस्तित्व को बचाने के लिए संघर्ष कर रही कांग्रेस (Congress) के नेता गलतियों से भी सबक नहीं लेते। जो सियासत उन्हें विपक्ष के लिए करनी चाहिए वो वे अपनी ही पार्टी के नेताओं के लिए करते है और बातें सार्वजानिक हो जाने के बाद पार्टी की ही किरकिरी होती है।