Gwalior News: मौत के बाद भी सबक नहीं, बेख़ौफ़ बिकती है Illegal liquor, वीडियो वायरल 

इतना सब हो जाने के बाद भी पुलिस प्रशासन चुप है आबकारी विभाग चुप है और अंचल में अवैध शराब माफिया सक्रिय है, जो कहीं ना कहीं इनकी भूमिका पर सवाल खड़े करता है।

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। ग्वालियर में आबकारी विभाग (Excise Department) का मुख्यालय होने के बाद भी ग्वालियर चम्बल अंचल में शराब माफिया सक्रिय है। यहाँ अवैध शराब (Illegal liquor) का धंधा जोरों पर है।  पिछले दिनों जहरीली शराब (Poisonous Liquor) पीने से ग्वालियर में हुई 3 मौतों के बाद भी आबकारी महकमा और पुलिस प्रशासन नींद से नहीं जागा है। ग्वालियर में लोग बेख़ौफ़ होकर अपने घरों से अवैध शराब (Illegal liquor) बेच रहे हैं। ऐसा ही एक वीडियो इस समय सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है जिसमें एक महिला घर के अंदर से शराब बेचती दिख रही है। खास बात ये है कि वायरल वीडियो उसी महाराजपुरा थाना क्षेत्र बताया जा रहा है जहां पिछले दिनों जहरीली शराब (Poisonous Liquor)पीने से तीन लोगों की मौत हो चुकी है।

 ये भी पढ़ें – Corona की दूसरी लहर में तेजी से डूब रहा देश, पीएम मोदी ने बुलाई उच्च स्तरीय बैठक

ग्वालियर जिले के महाराजपुरा थाना क्षेत्र के चंदू पुरा में जहरीली शराब (Poisonous Liquor) पीने से तीन लोगों की मौत हो चुकी है और कुछ लोग अस्पताल में भर्ती हैं जिनकी आँखों से कम दिखाई दे रहा है, मामले में पुलिस जाँच कर रही है लेकिन बड़ी बात ये है कि इतनी बड़ी घटना के बाद भी ना तो पुलिस प्रशासन और ना ही आबकारी विभाग शराब माफिया पर नकेल कस पा रहा है।  ग्वालियर में अवैध शराब (Illegal liquor) का धंधा बेख़ौफ़ जारी है। लोग अपने घरों से शराब बेच रहे हैं उन्हें ना तो पुलिस का डर है ना किसी और का। इसका प्रमाण एक वायरल वीडियो है जो महाराजपुरा थाना क्षेत्र की बीड़ी श्रमिक कॉलोनी का बताया जा रहा है। 41 सेकण्ड के वायरल वीडियो में एक महिला किसी को शराब देती दिख रही है और कह रही है कि ये ठेके वाले दे गए थे, सख्ती चल रही है, माल देना बंद है। ..

गौरतलब है कि महाराजपुरा थाना क्षेत्र में चंदू पुरा में पिछले दिनों जहरीली शराब (Poisonous Liquor) पीने से तीन लोगों की मौत हो गई और तीन लोग अस्पताल में भर्ती हैं भर्ती लोगों की आँख की रोशनी प्रभावित हुई है, उधर भिंड के लहार में भी कुछ दिन पहले जहरीली शराब (Poisonous Liquor) पीने से पांच लोगों की मौत हो गई थी इससे पहले जनवरी में मुरैना में जहरीली शराब के तांडव में 27 लोगों की मौत हो चुकी है।  इतना सब हो जाने के बाद भी पुलिस प्रशासन चुप है आबकारी विभाग चुप है और अंचल में अवैध शराब (Illegal liquor) माफिया सक्रिय है, जो कहीं ना कहीं इनकी भूमिका पर सवाल खड़े करता है।

सबसे बड़ी बात तो ये है कि मध्यप्रदेश के आबकारी विभाग का मुख्यालय ग्वालियर में ही है यहाँ आबकारी विभाग के तमाम बड़े अधिकारी बैठते है, ग्वालियर और चम्बल दोनों संभागीय मुख्यालय हैं ग्वालियर और मुरैना में पुलिस महानिरीक्षक स्तर के अधिकारी बैठते हैं।  केंद्र और राज्य सरकार में ग्वालियर चम्बल संभाग का प्रभावी नेतृत्व भी है।  इतना सब होने के बाद भी ग्वालियर चम्बल अंचल में शराब माफिया बेख़ौफ़ है और लोगों की जान से खिलवाड़ कर रहा है।