इस रक्षाबंधन भी सूनी रहेगी जेल में बंदी भाईयों की कलाई, परिजनों से मिलने पर लगा प्रतिबंध

कोविड-19 के नियमों के चलते इसबार भी जेल में बंद बंदियों को अपने परिजनों से मिलने के लिए मुख्यालय के निर्देश के बाद बंदिश लगा दी गई है।

दमोह, आशीष कुमार जैन। जहां एक ओर पूरे भारतवर्ष में रक्षाबंधन का त्यौहार मनाया जा रहा है, तो वहीं जेल में रहने वाले बंधुओं के लिए इस साल भी कोविड-19 के नियमों का पालन करना होगा। इन बंदियों को अपने परिजनों से मिलने के लिए एक बार फिर मुख्यालय के निर्देश के बाद बंदिश लगा दी गई है। दमोह जेल में भी इसी निर्देश का पालन करते हुए किसी भी परिजन को बंदियों से मिलने नहीं दिया जाएगा।

ये भी देखें- Datia Road Accident: सड़क दुर्घटना में 3 की मौत, एक गम्भीर रूप से घायल

दरअसल रक्षाबंधन के त्यौहार के साथ भाई दूज त्योहार तक भी बड़ी संख्या में बहनें जेल परिसर में आकर अपने बंदी भाइयों की कलाइयों पर राखी बांधती थीं। साथ ही परिजन उनसे मिलने के लिए आते थे और कुछ समय बंदियों के साथ बिता कर अपना दर्द बांटते थे, लेकिन कोरोना के चलते मुख्यालय के निर्देश के बाद एक बार फिर बंदियों को अपने परिजनों से मिलने के लिए बंदिश लगा दी गई है और बंदियों के लिए इस बार फिर से रक्षाबंधन का त्योहार फीका ही रहेगा। इसकी जानकारी जेलर ने दी।

https://vimeo.com/590550688