Dabra News : पेयजल और साफ-सफाई की समस्याओं से जूझते वार्ड वासियों ने पार्षद के साथ नगर पालिका के बाहर दिया धरना

Amit Sengar
Published on -
dabra

Dabra News : डबरा में वार्डों की साफ सफाई से लेकर पीने के पानी की समस्या भी अब एक बड़ा सवाल बन रही है या यूं कहें कि डबरा मैं कई वार्ड ऐसे भी है जो साफ सफाई के मामले में बिल्कुल शून्य है और पेयजल की समस्या तो लगभग डबरा के सभी वार्डों में देखने को मिल रही है। जिस पर नगर पालिका अध्यक्ष और नगर पालिका प्रशासन का कोई ध्यान नहीं जाता।

यह है पूरा मामला

बता दें कि वार्ड पार्षद वार्ड वासियों के साथ अपने वार्ड में साफ-सफाई और पेयजल की संकट तथा अवैध अतिक्रमण के इन मुद्दों को लेकर नगरपालिका के सामने धरना दे बैठ गए लेकिन जिम्मेदार तब भी सक्रिय नहीं हुए आखिरकार सवाल यह पैदा होता है जब वार्ड के जनप्रतिनिधि ही स्वयं आंदोलन कर रहे हैं और उनकी समस्या का कोई निराकरण नहीं हो रहा तो वार्ड वासियों का क्या हाल होगा।

Dabra News : पेयजल और साफ-सफाई की समस्याओं से जूझते वार्ड वासियों ने पार्षद के साथ नगर पालिका के बाहर दिया धरना

डबरा के वार्ड क्रमांक 27 के पार्षद सावित्री महेश कुशवाह ने मीडिया से रूबरू होकर बताया कि उनके बाड़मेर काफी समय से साफ सफाई की बहुत समस्या आ रही है वार्ड में गंदगी के अंबार लगे रहते हैं और नालियों की साफ सफाई ना होने के कारण नालियों से निकलने वाले पानी का सड़कों पर जलभराव भी हो रहा है जिससे वार्ड वासी काफी परेशानियों का सामना कर रहे हैं उन्होंने कहा कि बाढ़ में न्यू के पानी की बहुत समस्या है क्योंकि ऐसी भीषण गर्मी है वार्ड वासी पानी के लिए तरस रहे हैं बाढ़ वासियों की ऐसी ही और भी कई समस्याओं को लेकर आज नगर पालिका के सामने बैठकर धरना प्रदर्शन कर रहे हैं पार्षद ने बताया कि उनके द्वारा कई बार नगर पालिका में शिकायत लगाने के बाद भी आज दिनांक तक उनकी समस्या का कोई समाधान डबरा नगर पालिका अध्यक्ष और नगर पालिका प्रशासन द्वारा नहीं निकाला गया आखिरकार ऐसा अन्याय डबरा की जनता के साथ कब तक होता रहेगा।
डबरा से अरुण रजक की रिपोर्ट


About Author
Amit Sengar

Amit Sengar

मुझे अपने आप पर गर्व है कि में एक पत्रकार हूँ। क्योंकि पत्रकार होना अपने आप में कलाकार, चिंतक, लेखक या जन-हित में काम करने वाले वकील जैसा होता है। पत्रकार कोई कारोबारी, व्यापारी या राजनेता नहीं होता है वह व्यापक जनता की भलाई के सरोकारों से संचालित होता है। वहीं हेनरी ल्यूस ने कहा है कि “मैं जर्नलिस्ट बना ताकि दुनिया के दिल के अधिक करीब रहूं।”

Other Latest News