दमोह: अनलॉक के पहले जीरो पॉजिटिविटी दर लाने के प्रयास जारी, बेवजह निकलने वालों को भेजा जा रहा जेल

अधिकारियों का कहना है कि अनलॉक की प्रक्रिया कब से की जाएगी, इसके लिए राज्य स्तर से निर्देश मिलेंगे। फिलहाल कर्फ्यू का पालन कराना और कोरोना के मरीजों के आंकड़ों को जीरो करने का लक्ष्य है और यह लक्ष्य पाने के लिए प्रशासन लगातार काम कर रहा है।

दमोह

दमोह, गणेश अग्रवाल। दमोह में भी राज्य के अन्य जिलों के साथ 1 जून से अनलॉक की प्रक्रिया शुरू करने की तैयारी है। भले ही राज्य स्तर पर 1 जून से प्रदेश के कई जिलों में बाजार को खोले जाने और अनलॉक की प्रक्रिया शुरू करने के लिए प्रयास किए जा रहे हो। लेकिन इसके पहले की तारीखों में प्रशासन पूरी मुस्तैदी के साथ लोगों को घरों के अंदर ही रहने की हिदायत दे रहा है। तथा कर्फ्यू का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई भी कर रहा है। यही कारण है कि प्रशासन लगातार घरों से बाहर बेवजह निकलने वाले लोगों को खुली जेल भेज रहा है।

यह भी पढ़ें… राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर साधा निशाना, कहा- वैक्सीन की इस गति से कई लहरें आएगी

जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन के अधिकारी स्वयं सड़कों पर आकर कोरोना के कर्फ्यू का पालन कराने के लिए मुस्तैद दिखाई दे रहे हैं।

दमोह

एडिशनल कलेक्टर और एडिशनल पुलिस अधीक्षक स्वयं सड़कों पर उतर कर कर्फ्यू तोड़ने वालों पर सख्ती करते दिखाई दे रहे हैं। अन्य प्रशासनिक अमला भी इन अधिकारियों के साथ सड़कों पर मुस्तैदी के साथ कर्फ्यू का पालन कराने तैयार नजर आ रहा है।

यह भी पढ़ें… MP Weather Alert : मप्र के 2 दर्जन से ज्यादा जिलों में बारिश के आसार, मानसून की दस्तक जल्द

दमोह

अधिकारियों का कहना है कि अनलॉक की प्रक्रिया कब से की जाएगी, इसके लिए राज्य स्तर से निर्देश मिलेंगे। फिलहाल कर्फ्यू का पालन कराना और कोरोना के मरीजों के आंकड़ों को जीरो करने का लक्ष्य है और यह लक्ष्य पाने के लिए प्रशासन लगातार काम कर रहा है।