दमोह जिले के पर्यटन स्थलों का होगा विकास, केंद्रीय मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल के प्रयासों से शुरू हुए कार्य

दमोह जिला मुख्यालय स्थित रानी दुर्गावती संग्रहालय में भी बहुत कार्य करने के बारे में आश्वासन भी दिया गया।

दमोह, आशीष कुमार जैन। भारत सरकार के द्वारा दमोह जिले (Damoh District) की पुरातात्विक संपदा को वैश्विक नक्शे पर लाने के लिए प्रयास शुरू कर दिए गए हैं। और यही कारण है कि केंद्रीय मंत्री के प्रयासों से इन पुरातात्विक स्थलों के पुनर्निर्माण जीर्णोद्धार का कार्य शुरू हो गया है। इसको लेकर के भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के अधिकारियों ने दौरा करके इस बात की जानकारी दी।

Read also… दमोह जिला न्यायालय परिसर में न्यायाधीशों ने किया पौधारोपण, दिया पर्यावरण संरक्षण का संदेश

जबलपुर मंडल के एएसआई अधीक्षक सुजीत नयन ने जानकारी देते हुए बताया कि भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण द्वारा दमोह जिले के सिंगगौरगढ़ किले के साथ आसपास के पुरातात्विक स्थलों का जीर्णोद्धार शुरू कर दिया गया है। मालूम हो कि केंद्रीय मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल के प्रयासों से देश के महामहिम राष्ट्रपति के द्वारा इसी स्थान पर पहुंचकर जनजातीय सम्मेलन में हिस्सा लेकर इन सभी जीर्णोद्धार कार्यक्रमों का शुभारंभ कराया गया था। जिसके बाद भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के द्वारा यहां पर कार्य को शुरू कर दिया गया है। इसके अलावा दमोह जिले की अन्य पुरातात्विक संपदा को भी जीर्णोद्धार करके पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए कार्य योजना तैयार की जा रही है। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के जबलपुर जोन के अधीक्षक के द्वारा भ्रमण करके जानकारी एकत्रित की गई। साथ ही दमोह जिला मुख्यालय स्थित रानी दुर्गावती संग्रहालय में भी बहुत कार्य करने के बारे में आश्वासन भी दिया गया।