दमोह, डेस्क रिपोर्ट। प्रदेश (madhya pradesh) में कोरोना (corona) की रफ्तार में लगातर तेजी देखी जा रही। ग्वालियर (gwalior) और जबलपुर (jabalpur) में लगातार बड़ी संख्या में संक्रमित मरीजों की रिपोर्ट सामने आ रही है। वहीं अब तक कई कोरोनावरियर्स प्रदेशवासियों को बचाते हुए अपनी जान गवा चुके हैं। इसी बीच दमोह (damoh) से एक बुरी खबर सामने आई है। जहां 1 महीने पहले ही रिटायर हुए अपर कलेक्टर आनंद कोपरिहा (anand kopriha) की कोरोना से मौत हो गई है।

इसके अलावा बीते दिनों इंदौर में सीडीपीओ (CDPO) महेश मौर्य के निधन की खबर सामने आई थी। जिसके बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सहित गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने उनके निधन पर शोक व्यक्त किया था। दरअसल इंदौर में हालात बिगड़ते जा रहे हैं बीते 24 घंटे में इंदौर में 7 मौतें रिकॉर्ड की गई है। जहां बिगड़ती स्थिति को देखते हुए कोरोना कर्फ्यू 30 अप्रैल तक बढ़ाया जा सकता है।

Read More: टूटे रिकॉर्ड, 24 घंटे में 11,269 पॉजिटिव, टॉप 10 संक्रमित शहरों में भोपाल और इंदौर शामिल

हालांकि राहत की खबर यह है कि मध्य प्रदेश के कुछ जिलों में संक्रमण की दर घट रही है। जहां खंडवा, बुरहानपुर, देवास और छिंदवाड़ा में संक्रमण की दर कम हो गई है। जहां खंडवा में पॉजिटिविटी रेट 4.6% है। वहीं बुरहानपुर में संक्रमण की रफ्तार में कटौती देखी गई है।

वहीं प्रदेश में बढ़ते कोरोना संक्रमण पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा लगातार समीक्षा बैठक की जा रही है। वहीं प्रदेश में ऑक्सीजन के साथ-साथ रेमेडीसिविर इंजेक्शन और अस्पताल में बेड़ों की व्यवस्था की जा रही है। 30 अप्रैल तक प्रदेश में 1 लाख से ज्यादा बेड की व्यवस्था करने का प्रस्ताव तैयार किया गया है। जिसके लिए जोर शोर से तैयारियां की जा रही है।