ग्राहकों की गाढ़ी कमाई से करोड़ों की ठगी कर ले गए जालसाज,कार्रवाई की मांग

दतिया/सत्येन्द्र सिंह रावत

पिनकॉन इन्वेस्टर वेलफेयर एसोसिएशन नामक कंपनी द्वारा एक बड़ी ठगी कर करोड़ों की धनराशि हड़प ले गए हैं। ताजा मामला वर्ष 2018 का है। जिसमें आरोपित चिटफंड कंपनी के विरुद्ध दतिया जिले के कोतवाली थाना में धोखाधड़ी और जालसाजी के सम्बंध में विभिन्न धाराओं के तहत आपराधिक प्रकरण दर्ज है, किंतु आपराधिक प्रकरण दर्ज होने के पश्चात से आज दिनांक तक पुलिस द्वारा निवेशकों के पक्ष में आरोपियों के विरुद्ध कोई कार्रवाई नहीं की गई है। निवेशक जालसाजी और ठगे होने के बाद काफी परेशान हैं।

इस बाबत जिला पुलिस अधीक्षक अमन सिंह राठौर को पीड़ित निवेशकों की तरफ से निवेशक महेंद्र कुमार साहू एवं राजू विश्वकर्मा द्वारा जिला पुलिस अधीक्षक को आरोपित कंपनी एवं फ्रॉडकर्ताओ के विरुद्ध कार्रवाई किए जाने एवं गिरफ्तार किए जाने की मांग की गई है। जानकारी के अनुसार पिनकॉन इन्वेस्टर वेलफेयर एसोसिएशन नामक कंपनी द्वारा दतिया जिले के अंदर अपनी कंपनी का कार्यालय खोला गया था। जिले की जनता को प्रलोभन देकर उनकी गाड़ी कमाई निवेशकों के रूप में करोड़ों की धनराशि चिटफंडी कम्पमी पिनकॉन इन्वेस्टर वेलफेयर एसोसिएशन के संचालक कर्ताओं द्वारा अपना कार्यालय का बंद कर हड़प ले गए। जिससे शहर के काफी निवेशक करोडो रुपये के साथ फ्रॉड कंपनी के जालसाजी के शिकार हो गए। इससे परेशान होकर निवेशकों द्वारा कोतवाली में शिकायत दर्ज कराई गई। जिस पर वर्ष 2018 में कोतवाली थाने में आरोपी कंपनी पिनकॉन कंपनी के चेयरमैन मनोरंजन राय एवं उनके सहयोगी पर प्राथमिकी की 390/ 2018 धारा 420, 467, 468, 471, 406, 409 व 120 बी के तहत अपराध दर्ज किया गया है। कोतवाली पुलिस द्वारा इस मामले में मध्य प्रदेश निवेशकों के हित संरक्षण अधिनियम 2000 नियम 2003 के तहत अपराध की धारा भी नहीं बढ़ाई गई है। आज दिनांक आरोपियों के विरुद्ध कोई भी कार्रवाई नहीं की गई है। जिससे निवेशक काफी परेशान ओर हताश नजर आ रहे हैं।

निवेशकों द्वारा बताया गया है कि कंपनी द्वारा दतिया शहर के अलावा पूरे मध्यप्रदेश में के साथ-साथ अन्य राज्य पश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान आदि प्रांतों में विभिन्न प्रकार के निवेशकों के करोड़ों रुपए को भी जालसाजी कर हड़प कर लिया गया है। जिस के संबंध में अन्य प्रदेशों में भी फ्रॉड कम्पमी पिनकॉन इन्वेस्टर वेलफेयर एसोसिएशन के चेयरमैन मनोरंजन राय एवं उनके सहयोगियों पर 14 मामले दर्ज हैं। निवेशकों ने बताया कि राजस्थान के प्रांत में 80 करोड़ की राशि निवेशकों की हड़प कर ली गई है जिसका अपराध भी राजस्थान के एसओजी थाने में दर्ज है तथा पूरे भारत में फ्रॉड कंपनी द्वारा 796 करोड़ का घोटाला किया गया है और गरीब, मजलूम तबकों के निवेशकों को करोड़ों की चपत लगाकर हानि पहुंचाई गई है। बताया गया है कि फ्रॉड कंपनी द्वारा जालसाजी में कार्रवाई से बचने के लिए समय-समय पर कंपनी का बदलाव करके लोगों की पुरानी देनदारी नई कंपनी में ट्रांसफर की गई ओर पुराने सहयोगीयो को नई कंपनी में डायरेक्टर बनाया गया है। शिकायतकर्ता महेंद्र कुमार साहू एवं राजेश विश्वकर्मा ने बताया कि दतिया जिले में फ्रॉड कंपनी पिनकॉन इन्वेस्टर वेलफेयर एसोसिएशन के द्वारा दतिया जिले में करीब 12 करोड़ की जालसाझी कर लोगों के साथ फ्रॉड किया गया है। आवेदकों ने पुलिस अधीक्षक से कंपनी के विरुद्ध दर्ज मामले में कड़ी कार्रवाई करने के साथ-साथ आरोपियों को शीघ्र गिरफ्तार किए जाने के अलावा निवेशकों की करोड़ों की परिपक्ता राशि वापस दिलाए जाने की मांग की है। इस दौरान ज्ञापन देने वालों में महेंद्र साहू, राजू विश्वकर्मा, डॉ रमेश चंद्र गुप्ता, बिहारी कुशवाहा, वीरेंद्र कुमार, कमल किशोर गुप्ता, रशीद खान, अनिल झा, रघुवीर कुशवाहा आदि उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here