दतिया, सत्येन्द्र रावत। ‘सामाजिकता से बनी रहती है समरसता’ ये पक्तियां अब खाकी वर्दी भी पूरी कर रही है। जी हाँ पुलिस (police) और उसके डंडे से तो लोग खूब भयभीत रहते होंगे। लेकिन दतिया (Datia) में कर्तव्यनिष्ट पुलिसकर्मी ने मानवता की एक अनोखी मिसाल कायम की है। जहां ऐसा वाक्य देखने को मिला जो सच में सराहनीय है। दरअसल एक गर्भवती महिला को अर्जेंट खून की आवश्यकता होने पर बडोनी थाना प्रभारी रविंद्र शर्मा ने तत्काल अपना खून देकर उसकी जान बचाई। थाना प्रभारी द्वारा किये गए इस कार्य की पूरे जिले भर में खूब प्रशंसा भी की जा रही है।

यह भी पढ़ें… सीहोर : 13 दिनों से धरने पर बैठी आशा कार्यकर्ताओं का फूटा गुस्सा, कलेक्ट्रेट पर किया प्रदर्शन

गौरतलब है कि दतिया जिला चिकित्सालय के ब्लड बैंक (blood bank) में दतिया के बडोनी थाना प्रभारी रविंद्र शर्मा को जानकारी मिली थी। जहां दतिया जिला चिकित्सालय में एक प्रसूता महिला को ब्लड डोनर की सख्त जरूरत थी। वहीं जैसे ही यह जानकारी रविंद्र शर्मा को लगी तो वो तुरंत थाने से 20 किलोमीटर दूर अस्पताल पहुंचे। जिसके बाद उन्होंने प्रसूता महिला को ब्लड डोनेट किया। बतादें कि प्रसूता रोशनी सेन ग्राम बीकर की रहने वाली है। डॉक्टर ने ब्लड की कमी होने के प्रसूता को जान का खतरा बताया था। जिससे महिला के परिजन घबरा गए थे। जिसके बाद जब थाना प्रभारी प्रसूता की मदद को आजाये तो परिजनों की जान मे जान आई। इधर बडौनी थाना प्रभारी रविन्द्र शर्मा का कहना कि ब्लड डोनेशन से पाप पुण्य का बैलेंस बना रहता है इसलिए सबको इस कार्य के लिए आगे आना चाहिए।