दतिया, सत्येन्द्र रावत। जिला कलेक्टर संजय कुमार (Collector Sanjay Kumar) ने गुरुवार को किल कोरोना अभियान (Kill Corona Campaign) और टीकाकारण (Vaccination) कार्य की समीक्षा बैठक की। बैठक में कलेक्टर ने कहा कि फ्रंटलाइन वर्कर्स (Front line Workers) जिनके द्वारा कोरोना से बचाव के लिए पहला टीका अभी तक नहीं लगवाया है और ऐसे वर्कर जिनको दूसरा टीका समय सीमा में लगवाना था लेकिन टीका नहीं लगवाया गया है, ऐसे फ्रंट लाईन वर्करों का मई माह का वेतन रोकने की कार्रवाई की जायेगी।

यह भी पढ़ें:-प्रदेश के इस जिले में घर से बाहर निकलने के लिए जरूरी होगा E-Pass, पढ़िए पूरी खबर

कलेक्टर संजय कुमार ने कहा कि पुलिस, राजस्व स्वास्थ्य, पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग, नगरीय निकाय आदि विभाग के अधिकारी एवं कर्मचारी कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए फ्रंट लाईन वर्कर के रूप में कार्य कर रहे है। ऐसे वर्कर जिनके द्वारा कोरोना से बचाव के लिए पहला टीका अभी तक नहीं लगवाया है और ऐसे वर्कर जिनको दूसरा टीका समय सीमा में नहीं लगवाया गया है, इनका मई माह के वेतन रोकने की कार्रवाई की जायेगी। संबंधित फ्रंट लाईन वर्कर को टीका लगाये जाने का एसएमएस और आहरण संवितरण अधिकारी को प्रमाण-पत्र भी देना होगा कि दोनो सत्रों के टीके लगवाये जा चुके है। इसके बाद ही वेतन आहरण की कार्रवाई की जायेगी।

यह भी पढ़ें:-मुरैना : महिला हेड कांस्टेबल ने आरआई पर लगाए गंभीर आरोप, दी आत्मदाह की चेतावनी

कलेक्टर संजय कुमार ने कहा कि हमें कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर से निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार रहना है। पूर्व में जो कमियां रह गई थी उन कमियों को दूर कर हमें ऐसी रणनीति बनाना है जिससे हम कोरोना की तीसरी लहर को नियंत्रित कर सकें। इसके लिए हमें समय रहते समुचित व्यवस्था भी करनी है। उन्होंने कहा कि इसके साथ ही बच्चों के लिए पृथक से वार्ड बनाने, कोविड केयर सेंटर बनाने, ऑक्सीजन वार्ड बनाने के साथ-साथ शिक्षा विभाग एवं आदिम जाति कल्याण विभाग के छात्रावासों को भी कोविड केयर सेंटर के रूप में बनाए जाने के लिए अभी से तैयारियां और व्यवस्थायें की जाए।

अब तक 92 हजार से अधिक लोगों लगा चुका टीका

जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. डीके सोनी ने बताया कि जिले में कोविड-19 वैक्सीनेशन कार्य के तहत 92 हजार 556 से अधिक लोगों को टीकाकरण किया जा चुका है। जिसमें फ्रंट लाईन वर्कर के रूप में हैल्थ वर्कर, 45 से 59 वर्ष के लोग और 60 वर्ष से अधिक उम्र के लोग शामिल है। जिले में 5 मई से 18 वर्ष से अधिक आयु के लोगों का टीकाकरण शुरू हो गया है। जिसमें 3930 लोगों को टीका लग चुका है।