केंद्रीय मंत्री सिंधिया ने की तारीफ, बोले-नरोत्तम सबसे अच्छे जनसेवक, कांग्रेस पर साधा निशाना

Atul Saxena
Published on -
MP Election 2023,Union Minister Jyotiraditya Scindia, Home Minister Dr. Narottam Mishra

MP Election 2023 : मप्र विधानसभा चुनाव प्रचार अभियान ने तेजी पकड़ ली है, भाजपा और कांग्रेस के शीर्ष नेता प्रत्याशियों के समर्थन में वोट अपील करने जनसभाएं ले रहे हैं । इसी क्रम में केंद्रीय नागरिक उड्डयन एवं इस्पात मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया दतिया पहुंचे उन्होंने यहाँ गृह मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा को भारी बहुमत से जिताने की अपील की। सिंधिया ने इस मौके पर कहा कि नरोत्तम मिश्रा के प्रयासों से दतिया की तस्वीर बदल गई , इसलिए इन्हें जिताना है और भाजपा की सर्कार बनवाना है।

केंद्रीय मंत्री सिंधिया आज दतिया पहुंचे उन्होंने बड़ौनी में भाजपा उम्मीदवार गृह मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा के समर्थन में विशाल जनसभा को संबोधित किया, सिंधिया ने दतिया की जनता से अपील की कि नरोत्तम मिश्रा को जीत दिलाकर एक बार फिर मप्र में  भाजपा सरकार बनाने में सहयोग करें।

सिंधिया ने नरोत्तम को बताया सच्चा और अच्छा जनसेवक 

सिंधिया ने नरोत्तम मिश्रा को सबसे अच्छा जनसेवक बताया उन्होंने कहा कि कांग्रेस के शासनकाल में जब मैं दतिया आता था तो गड्डों में सड़क ढूँढना पड़ती थी लेकिन आज नरोत्तम जी ने पूरे दतिया और आसपास के क्षेत्र में सड़कों का जाल बिछा दिया है, इसलिए ऐसे सच्चे और अच्छे जनसेवक को जीत दिलाने का संकल्प आज हर दतियावासी को लेना चाहिए।

सिंधिया ने कहा कि दतिया तो पिछले पाँच सालों में कालेजों का शहर बन गया है मेडिकल कालेज से लेकर कितने कालेज खुल गए हैं, दतिया को सौ करोड़ रुपए की हवाई अड्डे की सौग़ात नरोत्तम मिश्रा की मेहनत और लगन के कारण मिली, इनके जैसा जनसेवक और कोई नहीं हो सकता।

सिंधिया ने कांग्रेस पर साधा निशाना, की सावधान रहने की अपील 

सिंधिया ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि आप लोग समझ लीजिये यदि कांग्रेस की सरकार आई तो सभी कल्याणकारी योजनायें बंद कर देगी जैसे 15 महीनों की सरकार में उसने संबल सहित कई योजनायें बंद कर दिखा दिया था इसलिए सरकार केवल भाजपा की ही बननी चाहिए, आप जब 17 नवंबर को मतदान करने जाएँ तो आपका ध्यान केवल कमल के फूल पर होना चाहिए ।


About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ.... पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....

Other Latest News