संदिग्ध अवस्था में मिला विलुप्त प्रजाति के काले हिरण का शव

डिंडौरी/ प्रकाश मिश्रा। वन विभाग के समनापुर वृत्त के अंतर्गत ग्राम पंचायत डांड बिछिया में विलुप्त प्रजाति के काले हिरण का मृत शरीर रोड किनारे खेत में पड़ा पाया गया। जिसकी सूचना ग्राम कोटवार ने वन विभाग को दी। वन विभाग का अमला सूचना पाकर मौके पर पहुंचा और काले हिरण के शव का पंचनामा बनाकर पोस्टमार्टम के लिए जिला मुख्यालय स्थिति ईको सेंटर पहुंचाया।

ज्ञात हो कि डिंडौरी जिला प्रदेश और देश भर में काले हिरणों के लिए जाना जाता है। जिले के कारोपानी क्षेत्र में काले हिरणों को संरक्षित करने के उद्देश्य कृष्ण मृग अभयारण्य क्षेत्र बनाया गया है। जहां यह बहुतायत मात्रा में पाए जाते हैं।

हिरण का शिकार या स्वाभाविक मौत
विलुप्त प्रजाति के काले हिरण के मृत पाए जाने की खबर के बाद शिकार की आशंका व्यक्त की जा रही थी। किंतु मौके पर पहुंचे वन विभाग के अमले ने जांच के उपरांत काले हिरण की पीठ पर पुराना घाव पाया। मौके पर उपस्थित वन विभाग के अमले के अनुसार हिरण की मौत गहरे जख्म के कारण हो सकती है। जख्म के कारणों एवं हिरण की मौत का कारण पोस्टमार्टम के बाद ही पता चल सकेगा।