ग्वालियर नगर निगम के कर्मचारी सांकेतिक भूख हड़ताल पर, आमरण अनशन की चेतावनी

12 अगस्त से आमरण अनशन पर जाने की चेतावनी।

ग्वालियर, अतुल सक्सेना।  ग्वालियर नगर निगम (gwalior municipal corporation) के कर्मचारियों ने अपनी 6 सूत्रीय मांगों के साथ सांकेतिक भूख हड़ताल (hunger strike)  शुरू कर दी है। कर्मचारियों का कहना है कि हम 2017 से लगातार मांग करते आ रहे हैं लेकिन नगर निगम प्रशासन ने इसपर कोई ध्यान नहीं दिया अब हमें आश्वासन नहीं, एक्शन चाहिए।  कर्मचरियों ने चेतावनी दी कि भूख हड़ताल के बाद भी यदि प्रशासन हमारी मांगों पर गौर नहीं करता तो फिर वे आमरण अनशन पर चले जायेंगे।

यूनियन ऑफ़ म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन ग्वालियर के बैनर तले नगर निगम के कर्मचारी पांच दिवसीय सांकेतिक भूख हड़ताल पर चल गए हैं।  संगठन के जिला अध्यक्ष सुधीर डागौर के मुताबिक नगर निगम ग्वालियर में 2015 से संविदा के  1430 पद खाली हैं जिन्हें भरने के लिए लम्बे समय से मांग की जा रही है।  2017 से लगातार हमारा संघर्ष जारी है लेकिन हमें आश्वासनों के अलावा कुछ नहीं मिला। पिछले दिनों नगर निगम आयुक्त शिवम वर्मा से मुलाकात हुई थी वे बहुत से बिंदुओं पर सहमत भी थे लेकिन उनका हाल ही में श्योपुर ट्रांसफर हो गया।

ये भी पढ़ें – Gwalior की ऐतिहासिक धरोहरों का मामला पहुंचा संसद, सांसद विवेक शेजवलकर ने की ये मांग

जिला अध्यक्ष ने कहा कि इसलिए हमने अभी पांच दिवसीय सांकेतिक भूख हड़ताल शुरू की है जिसमें सुबह 11 बजे से शाम 5 बजे तक सभी कर्मचारी भूखे रहकर विरोध प्रदर्शित करते हैं।  उन्होंने कहा कि यदि नगर निगम प्रशासन और  सरकार हमारी मांगों पर ध्यान नहीं देती तो 12 अगस्त से आमरण अनशन शुरू किया जायेगा जिसमें कर्मचारी 24 घंटे भूखे रहेंगे और विरोध जताएंगे।

ये भी पढ़ें – बीजेपी विधायक की मांग “बंटाधार और नक्सलवादी शब्दों को असंसदीय श्रेणी से हटाएं”, दिग्विजय सिंह पर कसा तंज

6 बिंदुओं का है मांग पत्र 

यूनियन ऑफ़ म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन ग्वालियर के जिला अध्यक्ष सुधीर डागौर के मुताबिक उनकी मांग इस प्रकार हैं….

1 – नगर निगम ग्वालियर में कार्यरत विनियमित सभी कर्मचारियों को नियमित किया जाये।

2 – नगर निगम ग्वालियर में कार्यरत आउटसोर्स (राज सिक्योरिटीज और ईको ग्रीन) कर्मचारियों को संविदा के पद पर नियुक्त किया जाये।

3 – नगर निगम ग्वालियर में कार्यरत सभी विनियमित कर्मचारियों की शैक्षणिक योग्यता के आधार पर श्रेणी परिवर्तन (डीपीसी) की जाये।

4 – नगर निगम ग्वालियर से सेवानिवृत हो रहे कर्मचारियों को सेवानिवृति के समय ही उसी दिन सभी भत्तों का एकजाई भुगतान  किया जाये।

5 – नगर निगम ग्वालियर में कार्यरत सभी कर्मचारियों को समयमान वेतनमान का लाभ दिया जाये।

6 – नगर निगम ग्वालियर के सभी कर्मचारियों को दो साल से छूटी वेतनवृद्धि और डीए का लाभ दिया जाये।

ये भी पढ़ें – Indore : मासूम ने निगला मैग्नेटिक स्टार, ऑपरेशन के बाद बच्चे की मौत, परिजनों ने अस्पताल पर लगाया लापरवाही का आरोप