फील्ड में तैनात बिजली कंपनी के स्टाफ के साथ ड्यूटी पर मारपीट की तो होगी FIR

कंपनी ने कहा है कि चालू रबी सीजन में बिजली आपूर्ति की विषम परिस्थिति में निष्ठापूर्वक काम कर रहे अधिकारियों,कर्मचारियों का मनोबल नीचा करने की इजाजत किसी को भी नहीं दी जा सकती है।

ऊर्जा मंत्री

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। बिजली कंपनी(Power Company) के कर्मचारियों (Employees) और अधिकारियों (Officers) के साथ ड्यूटी के दौरान (ON Duty) होने वाली मारपीट, दुर्व्यवहार की घटनाओं को गंभीरता से लेते हुए मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने तुरन्त एफआईआर (FIR) कराने के निर्देश दिए हैं।

कंपनी ने कहा है कि आमतौर पर देखने में आ रहा है कि बिजली कर्मियों पर ड्यूटी के दौरान असामाजिक तत्वों द्वारा मारपीट और दुर्व्यवहार किया जा रहा है। ऐसी घटनाएँ विद्युत अधिकारियों और  कर्मचारियों का मनोबल गिराती हैं। इसलिए कंपनी के कार्यक्षेत्र में कार्यरत सभी नियंत्रणकर्ता अधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि मैदानी अधिकारियों और कर्मचारियों के साथ होने वाली दुर्व्यवहार या मारपीट की घटनाओं को पूरी गंभीरता से लिया जाए।

ये भी पढ़ें – MP Budget 2021: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह का बड़ा बयान, किसानों-छात्रों को ऐसे मिलेगा लाभ

मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी (Central Region Power Distribution Company)  ने ड्यूटी पर तैनात अधिकारियों,कर्मचारियों से दुर्व्यवहार या मारपीट के मामलों को शासकीय कामकाज में बाधा डालने के तौर पर लिया जाकर तुरन्त कानूनी कार्यवाही के निर्देश दिए हैं। कंपनी ने कहा है कि चालू रबी सीजन में बिजली आपूर्ति की विषम परिस्थिति में निष्ठापूर्वक काम कर रहे अधिकारियों,कर्मचारियों का मनोबल नीचा करने की इजाजत किसी को भी नहीं दी जा सकती है।

कंपनी ने मैदानी अधिकारियों, कर्मचारियों से कहा है कि विद्युत आपूर्ति की स्थिति पर लगातार नजर रखें और जिले के कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक से संपर्क कर किसी भी अप्रिय स्थिति में उनसे आवश्यक सहयोग प्राप्त करें। इस संबंध में मैदानी महाप्रबंधकों,उपमहाप्रबंधकों को निर्देशित किया गया है कि वे अपने कार्यक्षेत्र में विगत 5 वर्ष में कंपनी के अधिकारियों,कर्मचारियों के साथ हुई मारपीट (घातक/अघातक) मामलों में पुलिस थाने में दर्ज और  कोर्ट में विचाराधीन मुकदमों की समीक्षा करें।